अच्छी नींद के मामले में दिल्ली वाले पीछे बेंगलुरू में सबसे अधिक जागरूकता

8
loading...

नई दिल्ली। अच्छी सेहत के लिए खानपान और रहन-सहन के तौर-तरीकों के साथ अच्छी नींद की जरूरत के प्रति दुनिया भर में जागरूकता बढ़ी है। खासकर भारतीय अपनी नींद की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए तरह-तरह के उपचारों तथा प्रौद्योगिकी पर नजर बनाये रखने के साथ ध्यान का भी सहारा लेते है। रिपोर्ट के अनुसार अच्छी नींद को लेकर दिल्ली के लोग कम जागरूक है जबकि बेंगलुरू में इसे लेकर सबसे अधिक जागरूकता है।

बेंगलुरू के 88 प्रतिशत लोग अच्छी नींद के महत्व को समझते हैं जबकि मुम्बई में यह आंकड़ा 84 प्रतिशत, लखनऊ में 70 प्रतिशत और दिल्ली में मात्र 47 प्रतिशत है।स्वास्य प्रौद्योगिकी क्षेत्र की एक कंपनी ने 15 मार्च को मनाये जाने वाले ‘‘र्वल्ड स्लीप डे’ के अवसर पर जारी अपनी रिपोर्ट में दुनिया भर के 12 देशों भारत, पाकिस्तान, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, चीन, फ्रांस, जर्मनी, जापान, नीदरलैंड, सिंगापुर, दक्षिण कोरिया और अमेरिका में नींद की गुणवत्ता और पर्याप्त नींद के प्रति जागरूकता के संबंध में कई नए खुलासे किये है।

इसे भी पढ़िए :  दुनिया का सबसे गहरा स्विमिंग पुल यहां है ....

यह रिपोर्ट इन देशों में 11 हजार 006 लोगों के सव्रेक्षण के आधार पर तैयार की गई है।रिपोर्ट के मुताबिक, दुनिया भर में नींद की जरूरत को लेकर जागरूकता बढ़ी है और सव्रेक्षण में शामिल अन्य देशों से तुलना में भारत के सर्वाधिक 38 फीसदी वयस्कों का कहना है कि गत पांच साल में उनकी नींद की गुणवत्ता में सुधार आया है।

इसे भी पढ़िए :  फराह खान ने इस कोरियोग्राफर को दिया था दूसरा चांस, कुछ यूं ताजा की पुरानी यादें- देखें Video

करीब 34 फीसद भारतीय व्यस्क नींद की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए उपचारों के बारे में जानना चाहते हैं और इनमें से 24 प्रतिशत स्वास्य पर नींद के प्रभाव को देखते हुए ‘‘स्लीप हेल्थ’ के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए ऑनलाइन फोरम और सोशल मीडिया का सहारा ले चुके हैं। पर्याप्त नींद के लिए ध्यान का सहारा लेने वालों में भी भारतीयों की तादाद सबसे अधिक 31 प्रतिशत है जबकि नियंतण्र औसत 26 प्रतिशत है।

इसे भी पढ़िए :  कड्डल किड्स के रिटेल स्टोर का हुआ भव्य उदघाटन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

1 × 5 =