साक्षी महाराज जैसे सांसदो का टिकट काटने से वफादार नेता और कार्यकर्ता का मनोबल होगा कमजोर

28
loading...

भाजपा के फायर ब्रांड नेता साक्षी महाराज अपने लोकसभा क्षेत्र उन्नाव से पिछला लोकसभा चुनाव जीते उस से पहले 10 वर्ष तक भाजपा का वहाँ कोई प्रतिनिधित्व मजबूती से नहीं था इस बार यहां से अन्य क्षेत्रों की भांति किसी और को टिकट दिये जाने की चर्चा चली तो उनके द्वारा, उनके समर्थको के अनुसार भाजपा नेत्रत्व को सही स्थिति से अवगत करने हेतु प्रदेश भाजपा अध्यक्ष डा. महेंद्र नाथ पांडे को पत्र लिख कर जानकारी दी गयी की अगर मेरा टिकिट काटा गया तो परिणाम सुखद नहीं होगा भाजपा लगभग 5 लाख वोटो से हार जाएगी, इस बात को उनके कुछ विरोधियों द्वारा हवा देकर नेत्रत्व को धमकी दिया जाना बताया जा रहा है चुनाव परिणाम क्या होंगे टिकिट किसे मिलेगा, कौन जीतेगा कौन हारेगा यह तो समय ही बताएगा, लेकिन मुझे लगता है की साक्षी महाराज ने सही स्थिति से पार्टी हित में प्रदेश अध्यक्ष को अवगत कराकर अच्छा किया बुरा नहीं और वर्तमान स्थिति को देखते हुए, साक्षी महाराज का यह कथन भी गलत नहीं है की अगर टिकिट मिला तो 4 – 5 लाख वोटो से जीतूँगा ,क्या करना है ये पार्टी नेत्रत्व को सोचना है , मगर मुझे लगता है की साक्षी महाराज जैसे स्पष्ठ वक्ता और जनाधार वाले फायर ब्रांड नेताओं का टिकट नहीं काटा जाना चाहिए क्योंकि अगर ऐसा होता है तो पार्टी के निष्ठावान व वफादार नेताओं और कार्यकर्ताओं का मनोबल कमजोर होता है।

इसे भी पढ़िए :  केन्द्र में सत्ता और विपक्ष होगा मजूबत, अरूण जेटली को ना दिया जाये कोई मंत्रालय

 

– रवि कुमार बिश्नोई
संस्थापक – ऑल इंडिया न्यूज पेपर्स एसोसिएशन आईना
राष्ट्रीय स्तर पर सक्रिय समाज सेवी संगठन आरकेबी फांउडेशन के संस्थापक
सम्पादक दैनिक केसर खुशबू टाईम्स
आनलाईन न्यूज चैनल ताजाखबर.काॅम, मेरठरिपोर्ट.काॅम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

19 + 10 =