माइग्रेन और सिरदर्द के लिए करें योग

10
loading...

नई दिल्ली। सिरदर्द होना आज के समय में एक आम समस्या हो गई है जो कि हर दूसरे तीसरे व्यक्ति को होती है। चिंतित रहना, तनाव में रहना, दिन भर काम करना। सही आहार नहीं लेने से, शरीर में ताजा ऑक्सीजन के न पहुंचने आदि के कारण से यह दर्द पैदा होता है। सिरदर्द से राहत के लिए योग एक अचूक उपाय है। आपको दिनर्चया नियमित करने के साथ ही नित्य योग करना जरूरी है।भ्रामरी प्राणायाम करें रोजाना सुबह के समय और रात को सोने से पहले 5-10 मिनट भ्रामरी प्राणायाम करें। यह प्राणायाम आपके सारे तनाव, चिंता आदि को बिलकुल शांत कर देगा व पूरे मस्तिष्क शांति देगा जिससे तुरंत लाभ होगा। इसको आप दिन में जब भी सिर में दर्द हो तब भी कर सकते हैं। इसको करने की विधि भी बहुत ही आसान है। माइग्रेन जैसे रोग में तो यह बहुत ही शांति देता है, और तनाव से पैदा होने वाले सिर दर्द को भी तुरंत मिटाता है। अपने दोनों हाथों के अंगूठों से कानों के छिद्र को दबा दें ताकि बाहर की आवाज आप सुन न पाएं।

इसे भी पढ़िए :  खाना खाते ही सो जाते हैं आप, तो हो सकते हैं गंभीर रूप से बीमार

अब आंखें बंद कर लें और आखिर में अंदर से ऐसी आवाज निकालें जैसे मधुमक्खी के भिनिभनाने की आवाज होती है। अनुलोम विलोम करेंयह प्राणायाम मस्तिष्क व नाड़ियों की शुद्धि करता है जिससे सिर दर्द में बहुत ही लाभ होता है। यह माइग्रेन, साइनस आदि में भी फायदा देता है। अगर आप महीने भर रोजाना सुबह के समय शुद्ध हवा में यह प्राणायाम करते हैं तो मात्र 30 दिन में ही आपका सिर दर्द छूमंतर हो जाएगा। सीधे बैठ जाएं। अपनी दाहिनी नाक के छिद्र को उंगली की मदद से बंद कर दें और नाक के दूसरे छिद्र बायीं नाक से सांस को अंदर लें और उस छिद्र को भी बंद कर दें। अब थोड़ी देर सांस को रोकें। जब दम घुटने लगे तो बायीं नाक के छिद्र को खोलकर पूरी सांस को बाहर निकाल दें । अब वापस दाहिनी नाक से सांस अंदर लें और उसे बंद कर दें फिर जब छोड़ना हो तो बायीं नाक से बाहर निकाल दें। इस तरह 10 मिनट रोजाना सुबह करें।मस्तिष्क में रक्तसंचार बढ़ाने के लिए अपने सिर के पीछे कान के नजदीक गले की जो नसें ऊपर की ओर मस्तिष्क में जा रही हैं।

इसे भी पढ़िए :  ध्यान करना हर किसी के लिए सुखद नहीं : अध्ययन

इन पर बादाम तेल, भृंगराज तेल आदि के जरिये 2-3 मिनट मालिश करें। ऐसा आप रोजाना नहाने के बाद सिर में तेल व कंघी करते वक्त कर सकते हैं।यह एक्सरसाइज मस्तिष्क में रक्त संचार को बढ़ाती है व सिर दर्द को रोकती है। सांसों पर ध्यान करें रोजाना सुबह बताये गए प्राणायाम करने के बाद 5-10 मिनट के लिए ध्यान करें। ध्यान में आपको करना कुछ नहीं है। सीधे बैठ जाएं। अपनी आंखों को बंद कर लें और अपनी आतीजाती सांस को देखें। बस सांसों पर ध्यान दें। इससे होगा यह की आपका मन शांत होगा व अगर आप तनाव से भरा काम करते हैं तो उसमे यह बहुत मदद करेगा। सिर दर्द के लिए योग में ध्यान को जरूर जोड़ें यह माइग्रेन में भी लाभ करता है।

इसे भी पढ़िए :  ध्यान करना हर किसी के लिए सुखद नहीं : अध्ययन

ú का उच्चारण करें : सिर दर्द की दवा है 5 मिनट के लिए रोजाना ú का उच्चारण। ú का उच्चारण बड़ा अद्भुत होता है। आप जब पहली बार करेंगे तो आपको ही असर दिख जाएगा। बाकी आप इसे सुबह के योग और प्राणायाम के साथ भी कर सकते हैं। ú का उच्चारण सिर दर्द जो की किसी टेंशन से हो रहा हो उसे तुरंत ही खत्म कर मानिसक शांति देता है। माइग्रेन से पीड़ित रोगी को भी इसका सहारा लेना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

two + 9 =