Wifi के Signal से बनेगी बिजली और चार्ज होगा Phone

14
loading...

नई दिल्ली : WIFI से Internet चलाते तो देखा होगा, लेकिन क्या आपने कभी उससे फोन की बैटरी चार्ज करके देखी है।Massachusetts Institute of Technology (MIT) के शोधकर्ताओं ने इस दिशा में एक अहम सफलता प्राप्त की है। शोधकर्ताओं ने एक डिवाइस को Wifi के सिग्नल से चार्ज करके दिखाया।

अमेरिका स्थित MIT शोधकर्ताओं ने WiFi Signal को बिजली में बदलने के लिए kरेक्टिनाl का इस्तेमाल किया, जो एक खास प्रकार का एंटीना होता है। यह शोध अंग्रेजी पत्रिका नेचर में प्रकाशित हुआ। जानकारी के मुताबिक, यह विशेष एंटीना ए सी इलेक्ट्रोमैग्नेटिक किरणों को प्राप्त करता है, जिसमें वाईफाई किरणें भी शामिल हैं।

इसे भी पढ़िए :  बटन स्मार्टफोन HTC Wildfire X के साथ भारत में एचटीसी ने की वापसी, जानिए फीचर्स

सेमिकंडक्टर बदलता है Electromagnetic का स्वरूप
एमआईटी के शोधकर्ताओं का यह रेक्टिना एक kटू डाइमेंशियल सेमिकंडक्टरl से जुड़ा होता है। इसके बाद जैसे ही ए सी इलेक्ट्रोमैग्नेटिक किरण सेमिकंडक्टर से होकर गुजरती हैं तो वह DC Electricity में परिवर्तित हो जाती हैं। इस बिजली से Flexible device की बैटरी चार्ज होती है।

40 माइक्रोवाट बिजली प्राप्त की
एमआईटी के इस kटू डाइमेंशियल सेमिकंडक्टरl ने वाईफाई के सिग्नल का इस्तेमाल करके लगभग 40 माइक्रोवाट बिजली पैदा की। शोधकर्ताओं के मुताबिक, 40 माइक्रोवाट बिजली की क्षमता एक साधारण डिस्प्ले वाले फोन और एक सिलिकन चिप्स को चलाने में सक्षम है। कई रेक्टिना का इस्तेमाल करके Rectifier तैयार किया जा सकता है और उससे ज्यादा मात्रा में बिजली प्राप्त की जा सकती है।

इसे भी पढ़िए :  मानसून के मौसम में पैरों को हेल्दी रखने के लिए अप्लाई करें यह फेसपैक्स

बैटरी मुक्त डिवाइस को भी मिलेगी बिजली
kटू डाइमेंशियल सेमिकंडक्टरl का इस्तेमाल बिना बैटरी वाले उपकरणों को चलाया जा सकेगा। इससे डिवाइस को वाईफाई से कनेक्ट करने के बाद internet के साथ बिजली भी प्राप्त हो सकेगी। ध्यान देने वाली बात यह है कि ऐसे में बैटरी से निकलने वाली खतरनाक रेडियो किरणों से बचा जा सकेगा।

इसे भी पढ़िए :  इसलिए Google ने 85 ऐप्स को प्ले स्टोर से हटाया, बताई ये वजह

 

Flexible device पर हुआ शोध
कैब्रिज स्थित एमआईटी के शोधकर्ताओं ने जानकारी दी कि यह शोध एक Hitech flaxibil उपकरण पर किया गया। इस उपकरण को अखबार की तरह एक कोने से लेकर दूसरे कोने तक फोल्ड किया जा सकता है। फोल्डेबल फोन तकनीक की दुनिया के लिए एकदम नया डिवाइस है।

srclh

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one + eleven =