सर्दी के मौसम में फटी हुई एड़ियों का इस तरह करें इलाज

7
loading...

कंपकंपाती ठंड का असर चेहरे से लेकर पैरों तक बेहद आसानी से देखा जा सकता है। लेकिन आमतौर पर, महिलाएं चेहरे की खूबसूरती को रिस्टोर करने के लिए तरह−तरह के लोशन, मॉइश्चराइजर व अन्य प्रॉडक्ट्स का इस्तेमाल करती हैं लेकिन पैरों की तरफ उनका कुछ खास ध्यान नहीं जाता। जिसके कारण एड़ियों के फटने की समस्या काफी हद तक बढ़ जाती है। अगर आपके साथ भी कुछ ऐसा ही हो रहा है तो जरूरी नहीं है कि आप बाजार से महंगी फुटक्रीम लाकर ही उसका इस्तेमाल करें। इसके अतिरिक्त कुछ घरेलू उपायों की मदद से भी फटी एड़ियों को आसानी से बाय−बाय कहा जा सकता है।

इसे भी पढ़िए :  राफेल डील : राज्यसभा में पेश हुई CAG रिपोर्ट, पिछली डील से बताया बेहतर, कहा- 17.08 फीसदी रकम बचाई

केले का इस्तेमाल
सर्दी के मौसम में केला भले ही आप खाना न चाहें, लेकिन उसे पैरों पर लगाकर फटी एड़ियों से निजात अवश्य पाई जा सकती है। इसके इस्तेमाल के लिए आप पहले एक पका केला लें। इसके बाद इसे मैश करके फटी हुई एड़ियों पर लगाकर 20 से 25 मिनट के लिए छोड़ दें। इसके बाद हल्के गुनगुने पानी की मदद से पैरों को वॉश करें। आप चाहें तो इसके बाद मॉइश्चराइजर भी प्रयोग कर सकती हैं। सप्ताह में चार दिन अगर यह प्रयोग किया जाए तो कुछ ही दिनों में पैर बेहद मुलायम दिखने लगेंगे। वैसे आप चाहें तो एक पके केले में आधा एवोकैडो मिक्स करके भी एड़ियों पर अप्लाई कर सकते हैं।

इसे भी पढ़िए :  Pulwama Terror Attack के बाद जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने मीरवाइज उमर फारुक समेत पांच अलगाववादी नेताओं की वापस ली सुरक्षा

शहद आएगा काम
शहद एंटी−बैक्टीरियल होने के साथ−साथ स्किन को मॉइश्चराइज व हाइड्रेट करने का काम करता है। आप इसका इस्तेमाल चेहरे के साथ−साथ पैरों पर भी कर सकते हैं। इसके इस्तेमाल के लिए पहले पैरों पर इसे लगाएं और फिर कुछ देर के लिए यूं ही छोड़ दें। अब हल्के गुनगुने पानी की मदद से पैरों को वॉश करें। शहद के इस्तेमाल का एक सबसे बड़ा लाभ यह है कि यह एड़ियों को फटने व रूखा होने से तो बचाता है ही, साथ ही दरारों को भी भरता है।

वैसलीन व नींबू का रस
सबसे पहले गर्म पानी में करीबन 15 से 20 मिनट तक पैरों को डिबोकर रखें। इसके बाद पैरों को सुखाएं और फिर एक टीस्पून वैसलीन में कुछ बूंदें नींबू के रस की मिक्स करें। अब इस मिश्रण को पैरों पर लगाकर तब तक रब करें, जब तक यह स्किन में अच्छी तरह अब्जार्ब न हो जाए। अब वुलन जुराबें पहन कर रातभर इसे ऐसे ही छोड़ दें। अगली सुबह पैरों को वॉश करें।

इसे भी पढ़िए :  बिहार : महागठबंधन में सीट बंटवारे को लेकर बढ़ी रार, मांझी ने खोला मोर्चा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

16 − 8 =