वृंदावन में बोले PM मोदी, ‘सबका साथ-सबका विकास ही नए भारत के विकास का रास्‍ता है’

15
loading...

नई दिल्‍ली : PM नरेंद्र मोदी सोमवार को वृंदावन में Akshaya Patra Foundation के Mid-Day-Meal कार्यक्रम में स्‍कूली बच्‍चों को खाना खिलाने के लिए पहुंचे हैं. इस कार्यक्रम का आयोजन Foundation की ओर से 3 अरबवीं थाली परोसे जाने के अवसर पर किया जा रहा है. प्रधानमंत्री ने कार्यक्रम से जुड़ी एक पट्टिका का अनावरण भी किया. साथ ही स्‍कूली बच्‍चों से मुलाकात की. पीएम मोदी ने कहा कि मुझे अभी स्‍कूली बच्‍चों को भोजन कराने का अवसर मिलेगा. Akshaya Patra Foundation को लाखों बच्‍चों को Mid-Day-Meal उपलब्‍ध कराने के लिए सम्‍मान भी दिया गया है. उन्‍होंने कहा कि सबका साथ-सबका विकास ही नए भारत के विकास का रास्‍ता है.

PM Modi ने कहा कि सेवा और समर्पण किसी सम्‍मान के लिए नहीं होते हैं. 1500 बच्‍चों से शुरू हुआ अक्षय पात्र का अभियान आज 70 लाख बच्‍चों तक पहुंच गया है. अक्षय पात्र 10 जिलों में काम कर रहा है. स्‍वस्‍थ भारत के लिए पोषित बच्‍चों को होना जरूरी है. उन्‍होंने कहा कि जो दान कर्तव्य समझकर बिना किसी उपकार की भावना से, उचित स्थान से, उचित समय पर योग्य व्यक्ति को दिया जाता है, उसे सात्विक दान कहते हैं.

इसे भी पढ़िए :  दीपिका पादुकोण ने पति रणवीर सिंह को कहा-डैडी, क्या प्रेग्नेंसी की तरफ है इशारा?

पीएम मोदी ने गायों का जिक्र करते हुए कहा कि गौ माता के दूध का कर्ज कोई नहीं चुका सकता. गाय हमारी संस्कृति और परंपरा का महत्वपूर्ण हिस्सा रही है. गाय ग्रामीण अर्थव्यवस्था का भी महत्वपूर्ण हिस्सा है. पशुपालकों की मदद के लिए अब बैंकों के दरवाजे खोल दिए गए हैं. अब बैंकों से 3 लाख रुपये तक का ऋण मिल सकता है. इससे हमारे तमाम पशुपालकों को लाभ मिलने वाला है. उन्‍होंने कहा कि बजट में राष्ट्रीय कामधेनु आयोग बनाने का फैसला किया गया है. इस आयोग के तहत 500 करोड़ रुपए का प्रावधान गौ माता और गौवंश की देखभाव के लिए किया गया है.

पीएम मोदी ने कहा किहमारी सरकार द्वारा सुनिश्चित किया जा रहा है कि पोषकता के साथ, अच्छी गुणवत्ता वाला भोजन बच्चों को मिले. जिस प्रकार मजबूत इमारत के लिए नींव का ठोस होना जरूरी है, उसी प्रकार शक्तिशाली नए भारत के लिए पोषित और स्वस्थ बचपन जरूरी है.प्रधानमंत्री ने कहा कि हमने टीकाकरण अभियान को मिशन मोड में चलाने का फैसला किया. मिशन इंद्रधनुष से देश में लगभग 3 करोड़ 40 लाख बच्चों और 90 लाख गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण किया गया है. जिस गति से काम हुआ है, उससे तय है कि सम्पूर्ण टीकाकरण का हमारा लक्ष्य अब दूर नहीं है. मिशन इंद्रधनुष को दुनियाभर में सराहा जा रहा है. पिछले दिनों एक मशहूर मेडिकल जनरल ने मिशन इंद्रधनुष को दुनिया के 12 Best Practice में चुना है.

इसे भी पढ़िए :  अयोध्या केस : 'खंभों में श्रीराम, श्रीकृष्ण, शिव तांडव के बाल रूप की तस्वीर नजर आती है'

पीएम ने कहा कि कुंभ मेले से पूरी दुनिया में स्‍वच्‍छता का संदेश गया है. स्‍वच्‍छ भारत मिशन से कई लोगों का जीवन बच सकता है. कार्यक्रम में मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ और राज्‍यपाल रामनाईक भी मौजूद हैं. इस दौरान मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कुंभ का जिक्र करते हुए कहा कि कुंभ में भी लोग स्‍वच्‍छता के प्रति जागरुक हैं. कुंभ सबसे बड़े आध्‍यात्मिक समागम के तौर पर आया है.

इसे भी पढ़िए :  UN की 'अनौपचारिक बैठक' का क्‍या है आशय? क्‍या कश्‍मीर मुद्दे पर इससे कुछ फर्क पड़ेगा?

योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि 10 नए जिलों में मिड-डे मील के लिए अक्षय पात्र से भोजन के लिए करार हुआ है. अक्षय पात्र की 6 नई रसोई के लिए धनराशि जारी की गई है. प्रयागराज में आयोजित हो रहे कुंभ में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए वहां पर भंडारा दे रहे हैं. भोजनालय की व्यवस्था कर रहे हैं और मैं अभिनंदन करूंगा कि अक्षय पात्र फाउंडेशन ने भी प्रयागराज में हजारों लोगों को प्रतिदिन स्वच्छ और स्वादिष्ट भोजन उपलब्ध कराने में भी बड़ी भूमिका निभाई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

thirteen − 11 =