गोल्ड मेडलिस्ट गीता फोगाट बोलीं, बाहरी सुंदरता के लिए अंदरूनी ताकत जरूरी

27
loading...

मुम्बई । पहलवान गीता फोगाट का मानना है कि एक महिला केवल स्वस्थ और ताकतवर होने पर ही सुंदर दिख सकती है। राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली गीता शुक्रवार को लैक्मे फैशन वीक समररिजॉर्ट 2019 में डिजाइनर रीना सिंह के लेबल इक्का के लिए रैम्प पर चलीं। पहली बार रैम्प वॉक करने वाली गीता ने कहा, मैं पहली बार रैम्प पर चलीं। कुश्ती के मैदान में उतरने से अधिक यहां डर लगा।

इसे भी पढ़िए :  UN की 'अनौपचारिक बैठक' का क्‍या है आशय? क्‍या कश्‍मीर मुद्दे पर इससे कुछ फर्क पड़ेगा?

यह अच्छा अनुभव था। कई ताकतवर और प्रेरणादायक लोगों से मिलना अच्छा अनुभव था।उन्होंने कहा, अंदरूनी ताकत सबसे जरूरी है। अगर आप अंदर से मजबूत नहीं हैं तो बाहर से सुंदर नहीं दिख सकते। मेरे यहां आने का लक्ष्य यह संदेश देना ही था।

इसे भी पढ़िए :  BUS में महिलाओं को मुफ्त सफर कराने के लिए एक कदम और आगे बढ़ी 'आप' की सरकार

भारत की सुंदर ताकतवर महिलाओं के सम्मान में आयोजित शो में विभिन्न क्षेत्रों की 11 महिलाएं शो स्टॉपर थीं। गीता फोगाट के अलावा तिलोत्तमा शोम, सयानी गुप्ता, थिएटर कलाकार आइशा सैयद और शेफ सारा टॉड भी यहां शो स्टॉपर थीं। मानसून वेडिंग की अदाकारा तिलोत्तमा शोम भी रीना सिंह के लिए यहां रैम्प पर चलीं।

इसे भी पढ़िए :  आज तो टल गया यूपी मंत्रिमंडल का विस्तार, भविष्य में कुछ को मिल सकता है ताज तो कई पर गिर सकती है गाज

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eight − two =