योग से कंट्रोल हो सकता है शुरुआती लेवल का हाई बीपी

6
loading...

नई दिल्ली। दिल्ली के एक अस्पताल में डॉक्टरों के अध्ययन में सामने आया है कि शुरुआती स्तर के उच्च रक्तचाप से ग्रस्त लोग अगर छह महीने नियमित रूप से योग करें तो उनका रक्तचाप काफी तेजी से सामान्य हो सकता है। यह अध्ययन सर गंगाराम अस्पताल के न्यूरोफिजियोलॉजी विभाग के शोधकर्ताओं ने किया है।

अस्पताल ने एक बयान में कहा, शुरुआती उच्च रक्तचाप प्री-हाइपरटेंशन से पीड़ित 120 रोगियों पर योग के प्रभाव को जानने के लिए यह अध्ययन किया गया। बयान में कहा गया है कि मरीजों को दो समूहों में बांटा गया। पहले समूह को नियमित रूप से योग करने को कहा गया जबकि दूसरे समूह को दूसरे व्यायाम, खान-पान की शैली में सुधार और धूम्रपान से बचने को कहा गया।

इसे भी पढ़िए :  मधुमेह से आंखों में 'डायबिटिक रेटिनोपैथी' बीमारी का खतरा

अध्ययन रिपोर्ट की लेखक नंदिनी अग्रवाल ने कहा, मरीजों के चौबीस घंटे और खासकर रात के समय के डायस्टोलिक रक्तचाप तथा औसत धमनी दबाव की जांच में सामने आया कि दूसरे व्यायाम करने वालों के मुकाबले योग करने वाले मरीजों के रक्तचाप में तेजी से गिरावट आई। अग्रवाल ने कहा, अध्ययन से यह स्पष्ट होता है कि योग करने से प्री हाइपरटेंशन के शिकार लोगों का रक्तचाप तेजी से सामान्य हो सकता है।

इसे भी पढ़िए :  कम धूप मिलने से बढ़ रहा है डिप्रेशन

अस्पताल में न्यूरोफिजियोलॉजी विभाग की अध्यक्ष एम गौरी देवी ने कहा कि उच्च रक्तचाप पूरी दुनिया में एक मुख्य स्वास्य समस्या है। हर पांच में से एक व्यक्ति इसका शिकार है। उच्च रक्तचाप के मरीजों की तादाद में 2025 तक 29.2 फीसदी तक का इजाफा होने की संभावना है।

इसे भी पढ़िए :  अगर आपको रात में नहीं आती है नींद तो हो जाएं सावधान! वरना इस रोग से हो जाएंगे परेशान

देवी ने कहा शुरुआती उच्च रक्तचाप प्री-हाइपरटेंशन क्लिनिकल उच्च रक्तचाप से पहले की स्थिति है और इसका संबंध हृदय तथा मस्तिष्क संबंधी रोगों की बढती घटनाओं से है। अस्पताल ने कहा कि अध्ययन के दौरान मरीजों को योग से जुड़े आसन, प्राणायाम करने, विश्राम और ध्यान लगाने को कहा गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

four × five =