संख्या बल में कमी को ध्यान में रखकर की जाएंगी नई भर्तियां

4
loading...

नई दिल्ली। राजधानी में अपराध पर नकेल कसने के लिए दिल्ली पुलिस लगातार स्मार्ट पुलिसिंग पर जोर दे रही है। पिछले साल की तरह इस साल भी दिल्ली पुलिस का मुख्य Focus Digitally तथा Community Police पर रहेगा। सूत्रों ने दावा किया कि बेहतर कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए दिल्ली पुलिस में नई भर्तियां भी की जाएंगी।पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक का कहना है कि भले ही दिल्ली पुलिस में संख्या बल की भारी कमी है, लेकिन बावजूद इसके पुलिसकर्मियरे ने मेहनत से काम किया। पिछले साल स्मार्ट पुलिसिंग को लेकर Western Concept अपनाने यानी आमजनों से पुलिस को जोड़ने पर जोर दिया गया था। इस साल भी दिल्ली पुलिस का Main focus digitization से लेकर Community police को और प्रभावी बनाने का रहेगा। इसके तहत आम लोगों को जोड़कर अपराध पर नकेल कसने के अभियान को प्रभावी बनाने पर बल दिया गया था। साथ ही आई एंड ईयर स्कीम, नेवरहुड वॉच स्कीम, पुलिस मित्र, प्रहरी आदि योजनाओं को और प्रभावी बनाए जाने पर जोर दिया गया। इस साल पश्चिमी देशों की तरह दिल्ली में भी Private Security Personnel, Watchdog, Domestic Helper, RWA, Market व अन्य एसोसिएशन को साथ लेकर उन्हें पुलिस का हिस्सा बनाने पर बल दिया जाएगा। अमूमन विकसित देश अमेरिका, जापान, फ्रांस, जर्मनी, थाईलैंड आदि में इसी तरह का कांसेप्ट है। पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक का मानना है कि Digital and Community Policing को और प्रभावी बनाए जाने से न केवल पुलिस का मुखबिर तंत्र मजबूत होगा, बल्कि किसी तरह के होने वाले अपराध पर नकेल कसने में कामयाबी हासिल होगी। दिल्ली पुलिस के मुखिया का कहना है कि नए साल में पुलिस अपने कामकाज में सुधार के साथ साथ जितनी भी तरह के एप है उन्हें भी और अत्याधुनिक करने की कोशिश करेगी। सड़क पर पुलिसकर्मी अधिक से अधिक संख्या में दिखें और आमजनों में सुरक्षा का अहसास हो, इसके लिए पुलिस न केवल नई भर्तियां, बल्कि सड़कों पर होने वाले अपराध में कमी करने के लिए ग्रुप Patrolling पर भी जोर देगी।

इसे भी पढ़िए :  दिसम्बर में आठ फीसद बढ़ीं नई नियुक्तियां

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

7 − three =