53 लोगो को मनमाने ढंग से यशभारती पुरूस्कार के लिए, अखिलेश यादव दोषी नही

15
loading...

समाज के किसी भी क्षेत्र में जनहित में काम करने वाले नागरिकों को बढ़ावा देना कोई गलत काम नही है लेकिन सही व्यक्ति सम्मानित हो जिससे ओरों को प्रेरणा मिल सके इस बात का ध्यान रखा जाना अनिवार्य है।
सामाजिक कार्यकार्ता डाॅ. नूतन ठाकुर द्वारा लगाया गया आरोप की 53 लोगो को मनमाने ढंग से दिया गया यशभारती पुरूस्कार सांस्कृतिक विभाग उप्र से सूचना का अधिकार में डाॅ. नूतन ठाकुर द्वारा मांगी गयी जानकारी के आधार पर बताया गया की यशभारती 20 अक्टूबर 2016 को 17 के लिए स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक में 54 नामों की संतुति उस समय की सांस्कृतिक मंत्री अरूण कुमारी कोरी द्वारा संतुति कर अखिलेश यादव को भेजी गयी सूची थी। नूतन ठाकुर का कहना है की 53 लोगो को मनमाने ढंग से यह सम्मान दिया गया।
वैसे तो यह व्यवस्था और बात गलत है क्योकि इससे पात्र व्यक्तियों के अधिकारों पर कुठारा घात होता है और क्योकि यशभारती के तहत भविष्य में पुरूस्कार प्राप्त करने वाले को अनेकों सुविधाएं शासन से प्राप्त होगी इसलिए यह जरूरी है की जिन लाभार्थियों को इस मामले में इंगित किया गया है उनकी जांच एक बार करा ली जाये और अगर गलत तरिके से यश भारती सम्मान मिला है तो उनकी भविष्य की सुविधाएं बंद की जानी चाहिए।
रही बात अखिलेश जी की तो एक मुख्यमंत्री के पास इतना समय तो होता नही वो हर मामले में खुद दखल दे या देखे जैसे सहयोगियों ने संतुति की उन्होने उन पर विश्वास करते हुए उनके प्रस्ताव पर मोहर लगायी इसलिए अखिलश यादव या सांस्कृतिक मंत्री दोनो में से किसी को भी 53 लोगो को मनमाने तरीके से यशभारती सम्मान दिये जाने का दोषी नही माना जा सकता और जिन्हे यह सम्मान मिला भले कि गलत रूप से मिला हो लेकिन कोई ना कोई तो आधार रहा ही होगा इसलिए पुरूस्कारों को ना छेड़कर भविष्य में मिलने वाली सुविधाओं पर लगायी जाये रोक।

इसे भी पढ़िए :  लोकसभा चुनाव 2019- इनका नाम नजर नहीं आएगा चुनाव लड़ने वाले योद्धाओ में, पीएम पद के तीन-तीन उम्मीदवार चुनाव मैदान में नहीं, समर्थकों में है मायूसी

– रवि कुमार बिश्नोई
संस्थापक – ऑल  इंडिया न्यूज पेपर्स एसोसिएशन आईना
राष्ट्रीय स्तर पर सक्रिय समाज सेवी संगठन आरकेबी फांउडेशन के संस्थापक
सम्पादक दैनिक केसर खुशबू टाईम्स
आॅनलाईन न्यूज चैनल ताजाखबर.काॅम, मेरठरिपोर्ट.काॅम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 × 4 =