26/11 हमले का साजिशकर्ता तहव्वुर राणा जल्द आएगा भारत: सूत्र

16
loading...

वाशिंगटन: Mumbai में 2008 में हुए आतंकवादी हमले की साजिश के मामले में अमेरिका में 14 साल की सजा काट रहे तहव्वुर राणा को भारत भेजे जाने की ‘प्रबल संभावना’ है. एक सूत्र ने इसकी जानकारी दी. Indian Government Trump प्रशासन के ‘पूरे सहयोग’ के साथ Pakistani Canadian Citizens के प्रत्यर्पण के लिए आवश्यक कागजी कार्रवाई पूरी कर रही है. राणा की जेल की सजा दिसम्बर 2021 में पूरी होने वाली है. Mumbai 26/11 हमले की साजिश रचने के मामले में राणा को 2009 में गिरफ्तार किया गया था.

इसे भी पढ़िए :  पश्चिम बंगाल में नहीं थम रही राजनीतिक हिंसा, बम हमले में 3 TMC कार्यकर्ताओं की मौत

पाकिस्तान स्थित लश्कर-ए- तैयबा के 10 आतंकवादियों द्वारा किए हमले में अमेरिकी नागरिकों सहित करीब 166 लोगों की जान गई थी. पुलिस ने नौ आतंकवादियों को मौके पर मार गिराया था और जिंदा गिरफ्तार किए गए आतंकवादी अजमल कसाब को बाद में फांसी दी गई थी. राणा को 2013 में 14 साल की सजा सुनाई गई थी. अमेरिकी अधिकारियों के अनुसार उसे December 2021 में रिहा किया जाएगा.

मामले की जानकारी रखने वाले एक सूत्र ने कहा, ‘यहां सजा पूरी होने पर राणा को भारत भेजे जाने की ‘प्रबल संभावना’ है.’ सूत्र ने कहा कि इस दौरान जरूरी कागजी कार्रवाई और जटिल प्रक्रिया को पूरा करना एक ‘चुनौती’ है. भारत का विदेश मंत्रालय, गृह मंत्रालय तथा कानून एवं विधि मंत्रालय और अमेरिकी विदेश मंत्रालय और न्याय मंत्रालय सभी की अपनी प्रत्यर्पण प्रक्रिया है.

इसे भी पढ़िए :  इस कैब ड्राइवर ने Birthday पर यात्री को दिया ऐसा Gift, सोशल मीडिया पर होने लगी चर्चा

उसने कहा कि जब प्रत्यर्पण की बात आती है तो वे अपनी प्रक्रिया को ना धीमा करना चाहते हैं और ना ही तेज करना चाहते हैं. भारतीय दूतावास और राणा के वकील ने हालांकि इस पर कोई टिप्पणी नहीं की.

इसे भी पढ़िए :  दुष्कर्म और बलात्कार के मामलों में कार्यवाही करने में देर क्यो लगाते है थानेदार

मालूम हो कि पाकिस्तानी-अमेरिकी आतंकवादी डेविड कोलमैन हेडली ने कहा था कि शिकागो में आव्रजन Business चलाने वाला उसका साथी एवं पाकिस्तानी नागरिक तहव्वुर राणा जानता था कि वह आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा का सदस्य है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twelve − 2 =