मेडिकल कालेज में न दी जाए डीजे बजाने की अनुमति

30
loading...

पूर्व वर्षाें की भांति इस वर्ष भी 25 दिसंबर को लाला लाजपत राय मेडिकल कालेज की रजत जयंती मनाए जाने की तैयारियां चल रही है। इसके लिये बनाई गई आयोजन समिति में डा. विशाल सक्सेना सचिव कोषाध्यक्ष डा. शालिनी शर्मा , उपाध्यक्ष डा. अजित चौधरी बनाए गए हैं तथा डा राजीव खरे, डा नरेंद्र आदि को जिम्मेदारी देने के साथ ही डा. विश्वजीत बेंबी को इसका अध्यक्ष बनाया गया बताया जा रहा है। किसी भी शहर में वहां की किसी संस्था का रजत जयंती समारोह मनाया जाए यह एक अच्छी बात है क्योकि वहां के नागरिकरों को गौरांवित भी करती है। क्योंकि उससे संबंध देश विदेश में रहने वाले लोग जब आते हैं तो उस जगह और देश दोनों का नाम दुनियाभर में चर्चाओं में आता है। इसलिये 1993 बैच के रजत जयंती समारोह का आयोजन एक अच्छा कार्य है और इससे भी अच्छी बात है कि इस वर्ष यहां मादक पदार्थ का सेवन प्रतिबंध किया गया है। इस बार से डांसर नहीं बुलाए जाएंगे क्योंकि पिछली बार बेली डांस को लेकर विवाद खड़ा हुआ था।
स्मरण रहे कि मेरे द्वारा पिछले दस साल से मेडिकल कालेज कंपाउंड में होने वाले इन आयोजनांे को लेकर सवाल उठाया जाता रहा है पूर्व कलेक्टर पंकज यादव ने जब ऐसे आयोजन को लेकर जांच बैठायी थी तो उस समय के प्रधानाचार्य ने यह कहकर अपनी जान बचाई थी कि उन्हे आयोजन की जानकारी नहीं थी। जांच में क्या हुआ यह तो नहीं कहा जा सकता। लेकिन अभी आयोजन में लगभग बीस दिन बाकी है। े
मेरा मानना है कि यह आयोजन मेडिकल कालेज कंपाउंड के स्थान पर किसी अन्य जगह पर हो या ऐसा स्थान निर्धारित किया जाए जहां होने वाले हंगामे की आवाजे मेडिकल कालेज में भर्ती मरीजों व उनके अभिभावकों तक पहुंचकर उन्हे किसी तरह की सुविधा न हों। क्योंकि बताया जा रहा है कि खुशबु ग्रेवाल नामक सिंगर के आने की सहमति हुई है उनका अभी तक एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। अगर सिंगर आएगी तो डीजे भी बजेगा। डीजे बजेगा तो मरीज व उनके तीमारदार भी परेशान होंगे और ध्वनी प्रदूषण भी फैलेगा। इस आयोजन पर आयोजकों द्वारा डीजे बजाने पर प्रतिबंध हो या प्रशासन इनसे लिखित में ले की आयोजन जहां होगा वहां से आने वाली आवाजों से बीमार मरीज और तिमारदार किसी भी प्रकार से असहज न हो पाए।
माना जा रहा है कि रजत जयंती समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा महानिदेशक डा. केके गुप्ता आ रहे हैं जहां तक मुझे याद आता है कि केके गुप्ता यहां भी प्रधानाचार्या आदि रह चुके हैं। और उन्हे यहां का पूरा ज्ञान भी है इसलिये आने से पूर्व वो भी तय करें कि मरीज ओर उनके तीमारदारों को किसी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिये।
बताते चले कि डांस, मादक पदार्थ का सेवन और डीजे बजाने को लेकर पिछले कई सालों से दैनिक केसर खुशबू टाईम्स समाचार पत्र और आॅन लाईन न्यूज चैनल ताजा खबर डाॅट काॅम द्वारा प्रशासन का ध्यान इस ओर आकर्षिक किया जाता रहा है और इस संदर्भ में कई जांच भी चल रही बताई जाती है। इसके बावजूद भी अगर डीजे मेडिकल कालेज के कंपाउंड में बजता है तो उसे किसी भी रूप में न्याय उचित नहीं कहा जा सकता।

इसे भी पढ़िए :  फिल्म सेंसर बोर्ड सांसद व विधायक दें ध्यान! अंधविश्वास और डरावने टीवी सीरियलों पर लगाए प्रतिबंध

– रवि कुमार बिश्नोई
संस्थापक – आॅल इंडिया न्यूज पेपर्स एसोसिएशन आईना
राष्ट्रीय स्तर पर सक्रिय समाज सेवी संगठन आरकेबी फांउडेशन के संस्थापक
सम्पादक दैनिक केसर खुशबू टाईम्स
आॅनलाईन न्यूज चैनल ताजाखबर.काॅम, मेरठरिपोर्ट.काॅम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nineteen − 17 =