CM योगी से मिला इंस्‍पेक्‍टर सुबोध का परिवार, बुलंदशहर हिंसा में हुई थी हत्‍या

6
loading...

नई दिल्‍ली/लखनऊ : बुलंदशहर में सोमवार को गोकशी के शक में भड़की हिंसा में मारे गए इंस्‍पेक्‍टर सुबोध कुमार के परिवार ने गुरुवार को मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ से मुलाकात की. गुरुवार सुबह सुबोध कुमार के बेटे समेत अन्‍य सदस्‍य योगी आदित्‍यनाथ से मिलने लखनऊ स्थित Chief minister’s residence पहुंचे. यहां उत्‍तर प्रदेश के DGP ओपी सिंह भी मौजूद रहे. बताया जा रहा है कि इस दौरान सरकार की ओर से भरपूर मदद देने की बात भी कही गई है.

सरकार देगी Compensation
बता दें कि बुलंदशहर हिंसा में मारे गए inspector सुबोध कुमार सिंह की पत्नी को योगी सरकार मुआवजे के तौर पर 40 लाख रुपये देगी. 10 लाख रुपये उनके माता-पिता को भी दिया जाएगा. सीएम योगी ने एक परिजन को सरकारी नौकरी देने का भी ऐलान किया है. इधर 2 डॉक्टरों के पैनल ने उनका पोस्टमार्टम किया. पोस्टमार्टम के दौरान उनके सिर में 32mm की गोली मिली. इसके अलावा उनके सिर, कमर, घुटना समेत शरीर के कई जगहों पर डंडों से चोट के निशान भी मिले हैं. जानकारी के मुताबिक, प्रदर्शनकारियों ने सुबोध कुमार की सरकारी पिस्टल और 3 मोबाइल फोन लूट लिए.

अखलाक हत्याकांड के IO रह चुके थे
बता दें, इंस्पेक्टर सुबोध कुमार अखलाक हत्याकांड के Investigation Officer भी रह चुके थे. जब वे जारजा थाना प्रभारी थे तब उन्होंने अखलाक हत्याकांड की दो महीने तक जांच की थी. बाद में उनका ट्रांसफर हो गया था. उस दौरान ग्रेटर नोएडा कोर्ट ने जारचा थाने को आदेश दिया था कि पहले वह मामला दर्ज करके जांच रिपोर्ट अदालत में जमा कराएं. वे इस मामले में 28 सितंबर 2015 से 9 नवंबर 2015 तक Investigation Officer थे. March 2016 में दूसरे इंवेस्टिगेशन ऑफिसर ने चार्जशीट फाइल की थी.

अब किसके पिता की बारी
बता दें कि Inspector सुबोध के बेटे अभिषेक ने कहा था कि उनके पिता चाहते थे कि वह एक अच्छा नागरिक बने, जो धर्म के नाम पर हिंसा नहीं भड़काये. अभिषेक सिंह ने कहा, ‘मेरे पिता ने इस हिन्दू-मुस्लिम विवाद में अपना जीवन गंवा दिया. अगली बारी किसके पिता की होगी?’ अभिषेक ने अपनी अपनी बातों के जरिए समाज को समझाने की कोशिश कर रहे हैं कि धर्म और जाति के नाम पर आपसी नफरत ठीक नहीं है. यह हम सबको नुकसान पहुंचाएगा. इस नफरत की आग में कोई और नहीं बल्कि हम और आप अपनों को खोएंगे.

इसे भी पढ़िए :  मालिक के बेटे के लिए किराएदार को खाली करनी पड़ेगी दुकान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2 × one =