दिवाली पर संयुक्त राष्ट्र ने किया कुछ ऐसा, जानकर हर भारतीय कहेंगे ‘वाह, वाह…’

22
loading...

संयुक्त राष्ट्र: रोशनी का त्योहार दिवाली अब केवल भारत ही नहीं दुनियाभर में मनाई जाती है. जीवन के अंधियारे को दूर कर रोशनी की ओर कदम बढ़ाने की प्रेरणा देने वाले इस त्योहार को संयुक्त राष्ट्र में भी अपने ही अंदाज में मनाया गया. संयुक्त राष्ट्र ने दिवाली को यादगार बनाने के लिए डाक टिकट जारी किया है. भारत ने दिवाली के अवसर पर विशेष डाक टिकटें जारी करने के लिए बुधवार को संयुक्त राष्ट्र डाक प्रशासन को धन्यवाद दिया है.

संयुक्त राष्ट्र डाक प्रशासन ने दिवाली उत्सव मनाने के लिए 19 October को एक विशेष कार्यक्रम पत्र जारी किया था. संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने Tweet किया, ‘अच्छाई और बुराई के बीच संघर्ष हर दिन होता है. रोशनी के पावन त्योहार के अवसर पर दिवाली डाक टिकटों की पहली खेप पर बुराई पर अच्छाई की जीत की हमारी साझा प्रार्थना को दर्शाने के लिए यूएन स्टांप का धन्यवाद.’

इसे भी पढ़िए :  चुनाव प्रचार में फिल्मी अभिनेताओं की घटती मांग, नेताओं के लिए है शुभ संकेत

1.15 डॉलर मूल्य वर्ग की इस शीट में 10 डाक टिकटें और नाम-पत्र जारी किए हैं जिसमें त्योहार पर रोशनी और दिए दर्शाए गए हैं. इस कागज की पृष्ठभूमि में संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय की जगमगाती इमारत और त्योहार के भाव को मनाने के लिए “हैप्पी दिवाली’’ का संदेश नजर आता है.

अंधकार पर प्रकाश की विजय का उत्सव है दिवाली: पोम्पियो
उधर, दिवाली के मौके पर दुनियाभर के लोगों को शुभकामनाएं देते हुए अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने मंगलवार को कहा कि यह अंधकार पर प्रकाश की जीत का उत्सव है. उन्होंने कहा कि यह प्रार्थना का भी समय है जब लोग बिना किसी इनाम या भुगतान के निस्वार्थ सेवा करते हैं. पोम्पियो ने दिवाली के संदेश में लोगों को आनंददायक एवं समृद्धि वाले अवकाश की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि ‘प्रकाश के पर्व’ के नाम से भी चर्चित दिवाली अंधकार पर प्रकाश की विजय मनाने का विशेष मौका है.

इसे भी पढ़िए :  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर कांग्रेस का पलटवार कहा, प्रजातंत्र पर विश्वास नहीं

अमेरिकी विदेश मंत्री ने कहा कि दुनियाभर में करीब एक अरब लोग दिये जलाकर इस बात को याद करेंगे कि बुराई पर अंतत: अच्छाई, अज्ञानता पर ज्ञान और कटुता पर दया की जीत होती है. पोम्पियो ने कहा, ‘जो इस उत्सव के मौके पर झालरों से अपने घरों को सजा रहे हैं, मैं अमेरिका में दिवाली मना रहे हमारे मित्रों की उपलब्धियों को भी सराहना चाहता हूं, उन्होंने हर दिन हमारे देश के लिए महत्वपूर्ण योगदान दिया है.’

‘सीनेट इंडिया कॉकस’ के सहअध्यक्ष सीनेटर जॉन कार्यिन ने कहा कि दिवाली से हिन्दू नववर्ष की शुरुआत होती है और टेक्सास में हजारों भारतीय अमेरिकी सहित दुनियाभर में लाखों लोग प्रकाश के इस पर्व को मनाते हैं.

इसे भी पढ़िए :  Asian Athletics : स्वप्ना और मिक्स्ड टीम को सिल्वर मेडल, दुती 200 मी के सेमीफाइनल में

अमेरिकी प्रतिनिधि सभा के लिए निर्वाचित पहली हिन्दू तुलसी गबार्ड ने वीडियो संदेश में कहा कि दिवाली साल का वह विशेष समय होता है जहां दुनियाभर के लोग एकसाथ आकर भगवान रामचंद्र के कई साल के वनवास से अयोध्या लौटने के सम्मान में दिये जलाते हैं और अंधकार पर प्रकाश, बुराई पर अच्छाई और अज्ञानता पर ज्ञान की विजय का उत्सव मनाते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2 × three =