‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ का पी एम  मोदी ने किया अनावरण

28
loading...

पी एम बोले – आज रचा गया इतिहास नहीं मिट सकता

 

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने आज गुजरात के केवड़ि‍या में विश्‍व की सबसे ऊंची प्रतिमा ‘स्‍टैच्‍यू ऑफ यूनिटी’ का अनावरण किया। भारत के पहले गृहमंत्री सरदार वल्‍लभ भाई पटेल की 182 मीटर ऊंची प्रतिमा उनकी जयंती पर गुजरात के नर्मदा जिले के  केवड़िया में राष्‍ट्र को समर्पित किया गया। इस मौके पर PM बोले ,आज पूरे देश  में सरदार वल्लभभाई पटेल के सम्मान में राष्ट्रिय एकता दिवस मनाया जा  रहा है और आज देशवासी #Run for unity दौड़ में हिस्सा ले रहे हैं। पी एम बोले कि आज के दिन को इतिहास से कोई नहीं मिटा सकता है।

जनसभा को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि आज जब धरती से लेकर आसमान तक सरदार साहब का अभिषेक हो रहा है, तब भारत ने न सिर्फ अपने लिए एक नया इतिहास रचा है, बल्कि भविष्य के लिए प्रेरणा का गगनचुम्बी आधार भी रखा है और ये  दुनिया की सबसे उंची प्रतिमा पूरी दुनिया और हमारी भावी पीढ़ियों को सरदार  के साहस, सामर्थ और संकल्प की हमेशा याद दिलाएगी ।

पीएम मोदी बोले  कि पटेल ने 5 जुलाई, 1947 को रियासतों को संबोधित करते हुए कहा था कि विदेशी आक्रांताओं के सामने हमारे आपसी झगड़े, आपसी दुश्मनी, वैर का भाव, हमारी हार की बड़ी वजह थी। अब हमें इस गलती को नहीं दोहराना है और न ही दोबारा किसी का गुलाम होना है। मोदी ने कहा कि सरदार साहब के इसी संवाद से, एकीकरण की शक्ति को समझते हुए उन्होंने अपने राज्यों का विलय कर दिया। देखते ही देखते, भारत एक हो गया। सरदार साहब के आह्वान पर देश के सैकड़ों रजवाड़ों ने त्याग की मिसाल कायम की थी। हमें इस त्याग को भी कभी नहीं भूलना चाहिए।

समारोह से दौरान  गुजरात के राज्यपाल ओ पी कोहली, मुख्यमंत्री विजय रूपाणी, कर्नाटक के राज्यपाल वजुभाई वाला, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह आदि कई गणमान्य लोग मुखय रूप से मौजुद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

14 − eleven =