बंबई हाईकोर्ट ने नेस वाडिया के खिलाफ छेड़छाड़ के मामले को किया खारिज

loading...

मुम्बई। बंबई उच्च न्यायालय ने बुधवार को बॉलीवुड अभिनेत्री प्रीति जिंटा का कथित रूप से शील भंग करने को लेकर पुलिस द्वारा 2014 में उद्योगपति नेस वाडिया के खिलाफ दर्ज मामले को खारिज कर दिया। जिंटा और वाडिया अपने-अपने वकीलों के साथ न्यायमूर्ति रंजीत मोरे और न्यायमूर्ति भारती डांगरे की खंडपीठ के सामने न्यायाधीशों के चैंबर में पेश हुए। वाडिया के वकील आबाड पोंडा ने बाद में कहा, ‘‘नेस के खिलाफ दर्ज मामला खारिज कर दिया गया। अदालत ने हमे इससे ज्यादा कुछ भी नहीं बताने को कहा है।’’

इसे भी पढ़िए :  साईबाबा का संदेश मानवता को प्रेरित करता है: प्रधानमंत्री मोदी

जिंटा के वकील ने भी कोई ब्योरा देने से इनकार कर दिया। एक अक्टूबर को अदालत ने सुझाव दिया था कि वाडिया और जिंटा इस मुद्दे को सौहार्द्रपूर्ण तरीके से सुलझा ले। जिंटा के वकील ने कहा था कि यदि वाडिया माफी मांगते हैं तो उनकी मुवक्किल मामले को निबटाने के लिए तैयार हैं। हालांकि पोंडा ने तब कहा था कि उनके मुवक्किल झगड़ा निपटाने के लिए तैयार हैं, लेकिन वह माफी नहीं मांगेंगे।

इसे भी पढ़िए :  VIDEO: सपना चौधरी ने किया ऐसा DANCE, सभी देखते ही रह गए

कथित घटना 30 मई, 2014 को इंडियन प्रीमियर लीग मैच के दौरान मुम्बई के वानखेड़े स्टेडियम में हुई थी। जिंटा और वाडिया आईपीएल टीम किंग्स एलेवन पंजाब के सह मालिक हैं। शिकायत के अनुसार वाडिया टिकट वितरण को लेकर अपनी टीम के कर्मचारियों को अपशब्द कह रहे थे और तब उन्हें जिंटा ने शांत रहने को कहा, क्योंकि उनकी टीम जीत रही थी।

जिंटा ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया कि उन्होंने उन्हें (जिंटा) को भी अपशब्द कहे और उनकी बाह पकड़कर उनके साथ छेड़छाड़ की। तब उन्होंने उन्हें भी गाली दी और उनका हाथ पकड़ लिया। इस साल फरवरी में पुलिस ने वाडिया के खिलाफ आरोपपत्र दाखिला किया था। इसके बाद उन्होंने हाईकोर्ट का रुख करते हुए मामले को खारिज किए जाने की मांग की थी।

इसे भी पढ़िए :  UP-उत्तराखंड के पूर्व CM एनडी तिवारी का निधन, दिल्ली में ली अंतिम सांस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2 + 6 =