तीन बच्चे होने के कारण नौकरी से निकाली गई आंगनवाड़ी कार्यकर्ता पहुंची कोर्ट

21
loading...

मुंबई: तीन बच्चों के कारण नौकरी गंवाने वाली महाराष्ट्र की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता ने बांबे हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। इस आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को ‘छोटे परिवार’ के नियम का पालन नहीं करने के आरोप में बर्खास्त कर दिया गया था।

इसे भी पढ़िए :  अमेरिका की 103 साल की बुजुर्ग महिला ने कोरोना वायरस को मात दे बियर पीकर मनाया जश्न

याचिकाकर्ता तन्वी सोदाये ने 2002 में आइसीडीएस योजना के लिए काम करना शुरू किया था। उन्हें 2012 में आंगनबाड़ी सेविका के पद पर पदोन्नत किया गया था। इस साल मार्च में राज्य सरकार की ओर से तन्वी को पत्र भेजा गया कि तीन बच्चों के कारण उन्हें नौकरी से बर्खास्त किया जा रहा है।

इसे भी पढ़िए :  जीडीए ने दिया कारोबारियों को बड़ा तोहफा, गाजियाबाद में मनपसंद औद्योगिक भूखंड खरीद सकेंगे

पत्र में 2014 के सरकार के उस आदेश का जिक्र था जिसके अनुसार राज्य सरकार के सभी विभागों के कर्मचारियों के दो से ज्यादा बच्चे नहीं होने चाहिए। मामले की अगली सुनवाई 3 अक्टूबर को होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nine + twelve =