4 महीने तक महिला ने इकठ्ठा किया पीरियड का ब्लड, उसके बाद किया ऐसा काम सुनकर यकीन नही कर पाएगे

87
loading...

इस दुनिया में भगवान ने स्त्री और पुरुष दो जातियां बनाई है और ये दोनों एक दुसरे के पूरक माने जाते है लेकिन स्त्री और पुरुष में कुछ भिन्नताएं होती है जो उन्हें के दुसरे से अलग बनाती है. जैसा की हम सभी जानते है की महिलाओं में हर महीने मासिक धर्म होता है और की एक ऐसी प्राकृतिक क्रिया है जो किसी बिह महिला में होना बेहद ही अनिवार्य है. आमतौर पर मासिक धर्म के दौरान महिलाओं को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है उनके लिए महीने के वो तीन चार दिन बड़ी ही मुश्किल से बीतते है और उस दौरान बहुत से लोग महिलों को अपवित्र भी मानते है.

परंतु यदि ये परेशानी महिलाओं के साथ ये समस्या ना हो तब महिलाओ को और बड़ी परेशानी का अनुभव करना पड़ता हैं क्योंकि हर महिला का सपना होता है की उसे मातृत्व का सुख प्राप्त हो और यदि महिलाओं में मासिक धर्म ना हो तो गर्भधारण नहीं हो सकता इसीलिए महिलाओ को मासिक धर्म आना बहुत जरुरी होता हैं. लेकिन आज हम आपको एक महिला के बारे में बताने वाले है जो अपने मासिक धर्म से निकलने वाले खून के साथ कुछ ऐसा काम कर डाली जिसके बाद कई लोग तो उसकी प्रशंसा कर रहे है तो वहीँ कुछ लोग उसके काम को शर्मनाक भी बता रहे है.

इसे भी पढ़िए :  सरकार की उपलब्धियों और जनहित की नीतियों के प्रधानमंत्री व मंत्रियों से संबंध समाचार क्यों नहीं छपने देना चाहते डीएवीपी के अधिकारी, क्या रददी बेचने का काम करने लगे हैं अफसर?

दरअसल ये मामला है अमेरिका की रहने वाली महिला का जिसका नाम है टिमी पाली है जो की एक पेंटर है और उसने कारनामा ये किया है की उसने अपने पीरियड से निकलने वाले खून से एक अद्भुत पेंटिंग को जीवंत कर दिया है. जानकारी के मुताबिक टिमी पाली ने करीब 4 महीनों से अपने पीरियड के ब्लड को इकठ्ठा कर रही थी जिसके बाद उसी पीरियड के ब्लड से चार कैनवास पर गर्भ में पल रहे बच्चे का एक खुबसूरत चित्रण किया.

इसे भी पढ़िए :  मुंबई में 5वें दिन भी बेस्‍ट बसों की हड़ताल जारी, लाखों लोग परेशान

वही इस पेंटिंग के बारे में जब टिमी पाली से पूछा गया की उन्हें ये आईडिया कैसे आया तो उनका जवाब था किउनके मन में ये आइडिया लोगों को मातृत्व से रूबरू कराने के लिए आया था और उसके बाद वे बिना कुछ सोचे समझे एक कैनवास लेकर उसपर अपने ही पीरियड के ब्लड के एक शिशु जो की एक माँ के गर्भ में पल रहा है उसकी तस्वीर उकेर दी. टिमी का कहना है की महिलाओं में होने वाले इस पीरियड को लोग अलग अलग नजरिये से देखते है कई लोग तो इसे गंदा समझते है तो वही कुछ लोग पीरियड के दौरान महिलाओं को अपवित्र समझते है जबकि हर कोई इस बात से वाकिफ है की इसी पीरियड के ब्लड से एक पुरुष पिता बनता है और एक स्त्री माँ बनती है तो फिर ये ब्लड अपवित्र कैसे हो सकता है. इसीलिए महिला ने अपने पीरियड के ब्लड से ये शानदार पेंटिंग बना डाली है.

इसे भी पढ़िए :  63वें जन्मदिन पर बोलीं मायावती, 'मुस्लिमों को मिले आरक्षण, जुमे की नमाज पर पाबंदी क्यों'?

वही महिला द्वारा बनाई गई पेंटिंग की सच्चाई जानने के बाद जहाँ कुछ लोग उनके सोच की तारीफ कर रहे है तो वही ऐसे लोगो की भी कमी नहीं है जो महिला के इस सोच और काम को शर्मनाक साबित करने में जुटे हुए है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

17 − 10 =