टाॅय बनाना सीखना है आसान, खोल सकते हैं अपना काम

loading...

टेक्नोलाॅजी के इस युग में भले ही आज तरह.तरह के गैजेट्स व प्ले स्टेशन जैसी चीजें मार्केट में आ गई हों लेकिन इन सबके बीच भी साॅफ्ट टाॅयज का क्रेज बच्चों के बीच कम नहीं हुआ है। इतना ही नहीं, लड़कियों को भी साॅफ्ट टाॅयज काफी पसंद आते हैं। ऐसे में अगर आप चाहें तो इस क्षेत्र में भी अपना एक उज्ज्वल भविष्य देख सकते हैं। पुराने समय में जहां बच्चे गुड्डे.गुड़िया को पसंद करते थे, उसकी जगह अब साॅफ्ट टाॅय ने ले ली है। तो क्यों न इस क्षेत्र में कॅरियर की नई संभावनाएं खोजी जाएं। एक साॅफ्ट टाॅय मेकर बनने के लिए सबसे पहले तो आपको यह खिलौने बनाने की कला आनी चाहिए। साथ ही आपका क्रिएटिव माइंड होना भी जरूरी है ताकि आप अपने खिलौनों को एक अलग आकार व स्वरूप दे सकें। इतना ही नहीं, आपको मार्केट के लेटेस्ट ट्रेंड की भी जानकारी होनी चाहिए ताकि आपको यह पता हो कि किस तरह के डिजाइन ज्यादा पसंद किए जा रहे हैं और उनकी डिमांड है। ऐसे में उस तरह के साॅफ्ट टाॅय बनाकर आप अच्छा खासा पैसा कमा सकते हैं। अगर इस क्षेत्र में आप खुद का बिजनेस शुरू करने का मन बना रहे हैं तो आपके भीतर मार्केटिंग स्किल्स व प्रबंधन स्किल्स भी बेहतर होने चाहिए ताकि आप आसानी से अपने व्यवसाय को बढ़ा सकें। एक साॅफ्ट टाॅय मेकर का मुख्य काम न सिर्फ खिलौने बनाना होता है। बल्कि खुद को स्थापित करने के लिए आपको अपने काम को कुछ अलग तरह से अंजाम देना होता है। मसलन, अगर आप चाहें तो बच्चों के पसंदीदा गैजेट्स को भी साॅफ्ट टाॅय का आकार दे सकते हैं। आमतौर पर, बच्चों को अपने गैजेट्स या फेवरिट कार्टून कैरेक्ट काफी पसंद होता है और अगर आप इसी स्वरूप के साॅफ्ट टाॅय बनाते हैं तो यकीनन बच्चों के दिल को वह अवश्य खुश करेंगे। वहीं एक साॅफ्ट टाॅय मेकर के कार्यक्षेत्र में अपने काम की अच्छी तरह मार्केटिंग करना, कच्चा माल खरीदने व तैयार किए हुए साॅफ्ट टाॅय को सही ढंग से सप्लाई करने पर भी पर्याप्त ध्यान देना होता है। एक साॅफ्ट टाॅय मेकर बनने के लिए किसी प्रोफेशनल क्वालिफिकेशन की आवश्यकता नहीं होती। लेकिन साॅफ्ट टाॅय बनाने का हुनर सीखने के लिए आप विभिन्न संस्थानों से टाॅय मेकिंग कोर्स कर सकते हैं। कोर्स की अवधि एक महीने से शुरू होकर छह महीने तक की होती है। कहते हैं कि कला की कोई कीमत नहीं होती। आप भी साॅफ्ट टाॅयज बनाने की कला सीखकर दिन दोगुनी रात चैगुनी तरक्की कर सकते हैं। इस क्षेत्र में संभावनाओं की कोई कमी नहीं है। आप विभिन्न टाॅय मेकिंग कंपनियों में काम कर सकते हैं या फिर इसमें स्वरोजगार की तलाश भी कर सकते हैं। आप अपने घर से ही टाॅय मेकिंग बिजनेस शुरू कर सकते हैं और अपने तैयार किए माल को विभिन्न टाॅय शाॅप व होलसेलर्स के पास बेच सकते हैं। इसके अतिरिक्त आप अपनी एक दुकान खोलकर उसमें भी खुद तैयार किए हुए साॅफ्ट टाॅय कम दामों पर बेच सकते हैं। वहीं आप अपनी यह कला दूसरों को सिखाकर भी अच्छा पैसा कमा सकते हैं। इसके लिए आप साॅफ्ट टाॅय मेकिंग कोर्स चला सकते हैं। इस क्षेत्र में आमदनी इस बात पर निर्भर करेगी कि आपको कितना बड़ा आर्डर मिलता है।

इसे भी पढ़िए :  सरकारी बैंकों के घाटे में 3.5 गुना की वृद्धि

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

14 + 18 =