बाढ़ का पानी यमुना में आने से आक्सीजन की मात्रा बढ़ी : विशेषज्ञ

21
loading...

नई दिल्ली। करोड़ों खर्च करने के बावजूद यमुना नदी साफ नहीं हुई पर बाढ का पानी पहुंचने के कारण यमुना साफ हो गई है। विशेषज्ञों का मानना है कि इस साल पहली बार यमुना नदी की स्थिति बेहतर हुई है। उनका कहना है कि बाढ़ के पानी के कारण Oxygen की मात्रा बढने से हालत ठीक हुई है और इससे नदी में प्रदूषणकारी तत्व बह गए हैं। देश की सबसे महत्वपूर्ण नदियों में एक यमुना Uttarakhand, Haryana, Delhi और Uttar Pradesh होकर गुजरती है। यह इलाहाबाद में गंगा में मिल जाती है। यमुना को देश में सबसे प्रदूषित नदी भी माना जाता है। विशेषज्ञों का कहना है कि प्रवाह बढने से पिछले दो दिनों में यमुना के जल की गुणवत्ता में सुधार हुआ है। यमुना जिये अभियान के संयोजक मनोज मिश्रा ने सुधार को अस्थायी प्रभाव बताया और यह मानसून के बीतने के साथ ही खत्म हो जाएगा। उन्होंने कहा कि इस साल यमुना के पानी की गुणवत्ता पहली बार बेहतर स्थिति में है लेकिन यह प्रवाह बढने के कारण हुआ है। प्रवाह होने से प्रदूषण कारी तत्व बह जाता है और पानी में Oxygen की मात्रा बढ जाती है। यमुना जैवविविधता पार्क में वैज्ञानिक फयाज खुदसर ने कहा कि हर साल कुछ समय के लिए गुणवत्ता ठीक हो जाती है और इस गुणवत्ता को बरकरार रखने के लिए आर्दभूमि बनाने की जरूरत है।

इसे भी पढ़िए :  जरा सोचिये...अगर पूरी दुनिया में लोग वेजिटेरियन हो जाएं तो क्या होगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

14 + 17 =