बेहतर शिक्षा उपलब्ध कराने हेतु खुलेंगे स्मार्ट स्कूल

loading...

लखनऊ 22 जुलाई। विकास की दृष्टि से पिछड़े प्रदेश के सीमावर्ती जिलों के गांवों के बच्चे भी अब शहरी इंग्लिश मीडिया स्कूलों के बच्चों की तरह कंप्यूटर और प्रोजेक्टर पर पढ़ाई करेंगे। बेहतर कार्य संस्कृति लागू कर इन गांवों में शिक्षा की तस्वीर बदली जाएगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इन गांवों के बच्चों को बेहतर शिक्षा उपलब्ध कराने के लिए स्मार्ट स्कूल खोलने के निर्देश दिए हैं।

इसे भी पढ़िए :  अमृतसर ट्रेन हादसा: कहीं बच्चों के सैंडल तो कहीं पटरी पर खून, दिला दी पटना हादसे की याद

बेसिक शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रभात कुमार ने कहा कि विकास की दृष्टि से पिछड़े वनअंगिया, मुसहर बहुल गांवों के साथ शहीद सैनिकों के गांवों को मुख्यमंत्री समग्र गांव विकास योजना के तहत चयनित किया गया है। चिन्हित 1625 गांवों में से पहले चरण में 914 गांवों में 2500 स्मार्ट स्कूल खोले जाएंगे।

इसे भी पढ़िए :  भगवान बद्रीनाथ के धाम के कपाट 20 नवंबर को बंद होंगे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

9 + six =