निजीकरण का विरोध भारी पड़ा

loading...

नई दिल्ली 22 जुलाई। इसरो के वरिष्ठ वैज्ञानिक तपन मिश्रा को सैटेलाइट बनाने में निजीकरण का विरोध करना भारी पड़ गया। इसरो के चेयरमैन के सीवन ने उन्हें अहमदाबाद स्थित स्पेस एप्लीकेशंस सेंटर के निदेशक पद से हटाकर बंगलूरू स्थित मुख्यालय में वरिष्ठ सलाहकार के पद पर भेज दिया है।

इसे भी पढ़िए :  आजाद हिंद फौज की वर्षगांठ पर पीएम फहराएंगे तिरंगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fifteen − 10 =