विजय माल्या को भारत लाने की उल्टी गिनती शुरू, 31 July को आ सकता है फैसला

30
loading...

नई दिल्ली: भारतीय बैंकों के 9 हजार करोड़ रुपये लेकर भागे कारोबारी विजय माल्या पर भारतीय एजेंसियों को जल्द बड़ी सफलता मिल सकती है. सूत्रों का दावा है कि विजय माल्या के प्रत्यर्पण की उल्टी गिनती शुरू हो गई है. आपको बता दें कि विजय माल्या को भारत में प्रत्यर्पण कराने के मामले में 31 July को अंतिम बहस होनी है. इस दिन विजय माल्या के प्रत्यर्पण पर फैसला आने की आने उम्मीद की जा रही है. अंतिम बहस के दौरान 31 July को सीबीआई और ED अधिकारियों से लंदन कोर्ट में पेश रहने के लिए कहा गया है.

लंबे समय से चल रही है सुनवाई
गौरतलब है कि Vijay Mallya के भारत में प्रत्यर्पण को लेकर CBI और ED की याचिका पर लंबे समय से सुनवाई चल रही है. सुनवाई के दौरान माल्या ने CBI के गवाहों को लेकर अदालत में सवाल खड़े किए थे. इससे पहले London Court विजय माल्या को जायदाद जब्त करने के मामले में भी झटका दे चुका है. इसके बाल Vijay Mallya ने एक बयान जारी कर कहा कि भारत में कुछ लोग उन्हें जबरदस्ती सूली पर चढ़ाने को तैयार हैं. वह अपना plan सौंप चुके हैं.

इसे भी पढ़िए :  मुंबई: BJP विधायक के जन्मदिन पर पत्नी और गर्लफ्रेंड का हुआ आमना-सामना, सरेआम हुआ बवाल

Banks का पैसा चुकाने के लिए तैयार
माल्या ने यह भी कहा कि वह बैंकों का पैसा चुकाने के लिए तैयार हैं. लेकिन, जबरन संपत्ति जब्त करने की कोशिश की जा रही है. Uk Court ने जो आदेश दिया है, उससे कोई फर्क नहीं पड़ेगा क्योंकि, Britain की ज्यादातर संपत्तियां उनके परिवार के नाम पर है और परिवार की संपत्ति को कोई छू भी नहीं सकता. News Agency Reuters से बातचीत में माल्या ने कहा था कि भारत में यह चुनावी साल है. ऐसे में वे मुझे वापस लाकर सूली पर लटकाना चाहते हैं, ताकि उन्हें चुनाव में ज्यादा वोट मिल सकें. माल्या ने कहा था कि उन्हें सिर्फ Poster boy बनाया जा रहा है.

इसे भी पढ़िए :  राफेल डील : राज्यसभा में पेश हुई CAG रिपोर्ट, पिछली डील से बताया बेहतर, कहा- 17.08 फीसदी रकम बचाई

इससे पहले लंदन अदालत का फैसला आने के बाद SBI के Managing Director अरिजित बसु ने बताया था कि Vijay Mallya की संपत्तियों की नीलामी से बैंक ने 963 करोड़ रुपये वसूले हैं. उन्होंने कहा था कि माल्या से वसूली के आदेश को लागू करने संबंधी UK की अदालत के आदेश से खुशी हुई है. कोर्ट के इस आदेश के बाद पूरा पैसा वसूलने की उम्मीद बढ़ी है.

इसे भी पढ़िए :  नोबेल शांति पुरस्कार के लिए 2019 मे इतने उम्मीदवारो का हुआ नामांकन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twelve + 14 =