अंकित बिश्नोई ने उठायी मांग पर्यटन स्थलों की समस्याओं के समाधान की ओर ध्यान दे प्रधानमंत्री

loading...

नई दिल्ली 14 जून। गर्मियों के दिनों में बच्चों की छुट्टियों के दौरान हमेशा ही ज्यादातर परिवार जो अपने रिश्तेदारी में नही जाते है वो देश के प्रमुख पर्यटन स्थलों शिमला, मनाली, मंसूरी, नैनिताल आदि में जाना पसंद करते है लेकिन पिछले कुछ वर्षो से ज्यादातर पर्यटन स्थलों पर इसे पर्यटकों की संख्या में बढ़ोतरी का परिणाम कहे या वहां के प्रशासन की व्यवस्थाओं में कमी जो भी हो अनेक पर्यटन स्थल अलग अलग समस्याओं से जूझ रहे है। जिससे वहां के जिन व्यापारियों को सीजन में पूरे साल की रोटी रोजी की व्यवस्था होती थी वो प्रभावित होने लगी है। राष्ट्रीय स्तर पर सक्रिय समाज सेवी संगठन आरकेबी फांउेडशन तथा सोशल मीडिया एसोसिएशन के राष्ट्रीय महासचिव यूपी मजीठिया बोर्ड के सदस्य श्री अंकित बिश्नोई ने इस संदर्भ में पूछने पर बताया की हमने प्रधानमंत्री व केन्द्रीय पर्यटन मंत्री केजे एलफोनस को पत्र भेजकर मांग की है की देश में स्थित पर्यटन स्थलों के व्यापारियों व यहां रहने वाले नागरिक और यहां आने वाले पर्यटकों के समक्ष आने वाली समस्याओं जैसे शिमला आदि में पानी और नैनिताल सहित तमाम पर्यटन स्थलों पर उत्पन्न होने वाली यातायात की समस्या में सुधार और इसका स्थायी समाधान खोजने के लिए जनहित में जल्द से जल्द व्यापक नीति बनायी जाये क्योकि इस वर्ष शिमला में पानी और यातायात की जो परेशानियों पर्यटकों के सामने आ रही है। अगर उसमें सुधार नही हुआ तो देश के पर्यटन स्थल ओर वहां के नागरिक प्रभावित होने लगेगें तथा 17 जून से नैनिताल में परिवहन समस्या को लेकर होने वाले आंदोलन भी पर्यटकों के आगमन की सम्भावनाओं को प्रभावित करेगे।

इसे भी पढ़िए :  अमेरिका में रह रहे इस गुजराती वैज्ञानिक को नहीं मिली गरबा में एंट्री, पढ़ें पूरा मामला

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

four × 5 =