पुरुषों को महिला सशक्तिकरण का महत्व समझना होगा: प्रियंका चोपड़ा

loading...

नयी दिल्ली। अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा ने कहा है कि महिलाओं के पास Career और परिवार के बीच संतुलन स्थापित करने की ‘Super power’ है। 35 वर्षीय अभिनेत्री Miss world का खिताब जीतने के बाद जल्द ही फिल्म उद्योग में आ गई थीं।Film industry में आने का श्रेय वह खासतौर पर अपने पिता को देती हैं क्योंकि उनके पिता ने उनके सपनों को समझा और उसे हासिल करने में मदद की।

actress ने बताया, “मैं एक ऐसे परिवार से आती हूं जहां सभी ने कलाकार बनने के मेरे फैसले पर सवाल उठाया था। इसको लेकर मेरे परिवार में बड़ी बहस छिड़ी हुई थी। लेकिन मेरे माता – पिता खास तौर पर मेरे पिता ने कहा कि मैं जो कुछ भी करूंगी, वह मेरे साथ होंगे और मेरा ख्याल रखेंगे। उन्होंने अपना वादा पूरा किया। वह मेरे साथ हमेशा रहे जब तक मैं 23 साल की नहीं हो गई। वह मेरे मैनेजर हुआ करते थे। मुझे मेरे पिता का समर्थन हासिल था।”

इसे भी पढ़िए :  SHOW 'diya aur baati hum' की भाभो नीलू वाघेला बन गईं वकील, अब दिखाएंगी ये कमाल

उन्होंने कहा , “ इस दुनिया में पुरुषों को यह समझने की जरूरत है कि जितनी जल्दी वह एक महिला को सशक्त करेंगे , जितनी जल्दी उन्हें अवसर देंगे , वह परिवार और करियर दोनों को संभाल लेगी। मेरा मानना है कि लड़के दोनों नहीं संभाल सकते हैं।

इसे भी पढ़िए :  शहर में है चर्चा अब सर्राफा व्यवसायी और कई बिल्डर हारमोनी होटल की भांति खड़े कर सकते है हाथ

आप देखिए Commonwealth Games को … ज्यादातर मेडल लड़कियों ने जीते हैं क्योंकि उन्हें अवसर दिया गया।” अभिनेत्री ने कहा कि समाज को इस विचार को और समझने की जरूरत है कि महिलाएं महत्वाकांक्षी हो रही हैं। अभी भी समाज करियर का रूख करने वाली महिलाओं को गर्मजोशी के साथ स्वीकार नहीं कर पाया है।

इसे भी पढ़िए :  PM मोदी : राजीव गांधी तो भरी संसद में मंडल कमीशन के खिलाफ बोले थे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

1 × five =