जिले की जनता भूल नहीं पाएगी एसएसपी मंजिल सैनी के नौ माह का कार्यकाल

296
loading...

समय भले ही कम मिला हों लेकिन अपने कार्यकाल के लगभग 9 माह में एसएसपी के रूप में मंजिल सेनी द्वारा खूब नाम कमाया गया। तो जनसेवा और हर व्यक्ति की समस्याओं का समाधान पुलिस से कराने में अग्रणी भूमिका निभाने वाली वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी मंजिल सैनी को इस जनपद के लोग उनकी कार्यप्रणाली और सबको सम्मान देने व सरल भाषा में बात करने के लिये हमेशा याद रखेेंगे।
धार्मिक विचारों की मगर दबंग 2005 बैंच की आईपीएस अधिकारी मंजिल सैनी ने 6 जुलाई 2017 को यहां के एसएसपी का कार्यभार ग्रहण किया था। तब से कई प्रमुख त्योहार व चुनाव आदि संपन्न कराने के साथ साथ बदमाशों पर अंकुश लगाने तथा अपराधिक घटनाएं रोकने के भरपूर प्रयास किये गए वो बात और है कि 12 दर्जन मुठभेड़ों व चार बदमाशों के ढेर होने तथा 37 को गोली लगने 123 ईनामी बदमाशों को जेल भेजने के अच्छे प्रयासों के बावजूद भी अपराधों में कमी नहीं आ पायी जितनी आनी चाहिये थी लेकिन मंजिल सैनी को इसके लिये जिम्मेदार न मानते हुए नागरिकों द्वारा उनकी कार्यप्रणाली की हमेशा सराहना और प्रशंसा की गई ।
एससी/एसटी को लेकर आंदोलन पश्चिम बंगाल के राज्यपाल के मेरठ आगमन पर हंगामे को संभालने और उनके प्रयासों की सभी ने सराहना की तथा राज्यपाल केसरी नाथ त्रिपाठी ने तो एक पत्र लिखकर उनकी प्रशंसा की तो इसी दौरान 25 फरवरी 2017 को आरएसएस के देश के सबसे बडे आयोजन राष्ट्रोदय कार्यक्रम के दौरान अच्छी व्यवस्था करने तथा पांच करोड की फिरोती के लिये अगवा दिल्ली के डाक्टर श्रीकांत गोड की वापसी नगर निगम चुनाव संपन्न कराने के लिये उन्हे प्रशस्ति पत्र मिला। पुलिस लाईन में क्राइम ब्रांच नई बिल्डिंग जिम हाॅल, आरओ प्लांट आदि उनके ऐसे कार्य रहे जो
पुलिसवालों के लिये अच्छी पहल कहीं जा सकती है।
इसके अलावा भी कई मामलों में मंजिल सैनी काफी चर्चित रही। जिला प्रशासन व उनका डीएम से उनका अच्छा तालमेल रहा। पत्रकारों को भी इनके द्वारा समय अनुकूल सम्मान दिया गया। तो कई मौके ऐसे आए जब कुछ मामलों में राजनीतिक दबाव न मानने के लिये भी मंजिल सैनी के प्रशंसा की गई।
अब बाल्य देखभाल हेतु अवकाश स्वीकृत होने के बाद शायद अगले चार माह उनके द्वारा अपने परिवार व बच्चों को समय दिया जाएगा। इसके लिये भी जागरूक नागरिक उनकी चर्चा कर रहे है। क्योंकि इनका कहना है कि मेरठ जैसे जिले में एसएसपी का पद का चार्ज आसानी से कोई नहीं छोडता लेकिन मंजिल सैनी द्वारा अपने बच्चों पर कुछ ध्यान देने के लिये छुटटी लेने में कोई देर नहीं की।
वेस्ट एंड रोड स्थित बाला जी मंदिर के महंत शनि पीठाधीश्वर मंदिर के संस्थापक महामंडलेश्वर महंत श्री महेंद्र दास जी महाराज का कहना है कि मंजिल सैनी मानवीय संवेदनाओं से युक्त एक सफल पुलिस अधिकारी हैं जो छोटी से छोटी घटना पर ध्यान देकर खुद मौके पर पहुंचने में विश्वास रखती थी। मजीठिया बोर्ड यूपी के सदस्य व आॅन लाईन न्यूज चैनल ताजा खबर डाॅट काॅम के चेयरमैन अंकित विश्नोई का कहना है कि आरकेवी फाउंडेशन की ओर से एसएसपी के रूप में मंजिल सैनी द्वारा गरीबों को कबंल बांटते समय फाउंडेशन की तारीफ करते हुए कहा गया था कि जरूरतमंद व्यक्तियों को समय के अनुसार मदद करने के लिये सबको आगे आकर काम करना चाहिये जैसे शब्द इस बात का प्रतीक कहे जा सकते हैं कि उनके मन में हमेशा गरीब तथा बेसहारा व जरूरतमंद लोगों की मदद की बात बनी रहती है।

 

– रवि कुमार विश्नोई
राष्ट्रीय अध्यक्ष – आॅल इंडिया न्यूज पेपर्स एसोसिएशन आईना
सम्पादक – दैनिक केसर खुशबू टाईम्स
MD – www.tazzakhabar.com

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fifteen + four =