कितनी कामयाब होगी सोनिया गांधी की विपक्षी एकता की कोशिश, डिनर पार्टी में 17 दलों को न्यौता

loading...

New Delhi: UPA की अध्यक्ष Sonia Gandhi ने आज डिनर का आयोजन किया है, जिसमें 17 विपक्षी पार्टियों के leaders शामिल हो सकते हैं। ये डिनर ऐसे समय आयोजित किया गया है जब विपक्षी एकता की बात की बात हो रही है और सत्ताधारी NDA के कुनबे में सब कुछ ठीक नहीं है। हाल ही में Telugu Desam Party के मंत्रियों ने केंद्र सरकार से इस्तीफ़ा दे दिया था। पार्टी प्रमुख चंद्रबाबू नायडू केंद्र से Andra Pradesh के लिए विशेष दर्जे की मांग कर रहे हैं। हालांकि Sonia Gandhi के डिनर में टीडीपी, बीजेडी और Telangana Rashtra Samithi को न्योता नहीं दिया गया है। डिनर में झारखंड के पूर्व Chief Minister Babulal Marandi, झारखंड मुक्ति मोर्चा के हेमंत सोरेन और बिहार से जीतन राम मांझी शामिल होंगे जो हाल ही में NDA छोड़ आरजेडी के साथ आए हैं जो Congress की सहयोगी है।

इसे भी पढ़िए :  भारतीय रेल को दुरुस्‍त करेंगे 'Mystery Shopper', ऐसे आपके सफर को भी बनाएंगे आसान

इसके अलावा बिहार में इस समय कांग्रेस के सबसे बड़े सहयोगी आरजेडी नेता Lalu Prasad Yadav के बेटे तेजस्वी यादव के भी हिस्सा लेने की संभावना है हालांकि अभी तक उनके आने की पुष्टि नहीं हुई है। TMC के नेता सुदीप बंधोपाध्याय, DMK से कनिमोई, Samajwadi Party से रामगोपाल यादव आ सकते हैं। वहीं CPIM से सीताराम येचुरी और CPI से डी। राजा भी मौजूद होंगे। इसके अलावा जनता दल सेक्युलर, केरल कांग्रेस, आईयूएमएल, आरएसपी, आरएलडी के नेताओं के आने की उम्मीद है।

इसे भी पढ़िए :  17 जून से नैनीताल को बंद करने का ऐलान

डिनर में झारखंड के पूर्व CM Babulal Marandi, झारखंड मुक्ति मोर्चा के हेमंत सोरेन और बिहार से जीतन राम मांझी शामिल होंगे जो हाल ही में NDA छोड़ आरजेडी के साथ आए हैं।
सूत्रों का कहना है कि बीएसपी को भी इस डिनर के लिए न्यौता भेजा गया है लेकिन हो सकता है Mayavati इसमें किसी भी नेता को न भेजें क्योंकि कर्नाटक विधानसभा में पार्टी ने जनता दल सेक्युलर के साथ समझौता कर रखा है। इस डिनर का आयोजन दिल्ली स्थित Sonia Gandhi के आवास 10 जनपथ में किया गया है। माना जा रहा है कि इस डिनर के बाद आगामी लोकसभा चुनाव में विपक्षी दलों की एकता को बल मिल सकता है। UPA अध्यक्ष ने पहले ही आम चुनाव को लेकर विपक्षी दलों से मतभेद भुलाकर साथ आने की अपील कर चुकी हैं।

इसे भी पढ़िए :  नेपाल के प्रधानमंत्री करेंगे चीन का छह दिवसीय दौरा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

11 − 11 =