खुशियों से परिपूर्ण रहा 2017-18 की खटटी मिठी यादों को भूल उसे विदाई देते हुए आओ खुशियों व उमंग के साथ,वित्तीय वर्ष 2018 का करे स्वागत

0
108

कहते हैं कि हिंदू धर्म में वर्ष के 365 दिन में कोई न कोई त्यौहार हर दिन होता है। इसलिये हमारे यहां सब दिन खुशी और उत्साह से परिपूर्ण होते हैं, लेकिन मार्च माह एक विशेष ही उत्साह और उमंग लेकर आता है। क्योंकि इस माह में पढ़ने वाला होली पर्व रंग बिरंगे रंगों की खुशबुओं से भरा होने के साथ साथ कैशू के फूलों के रंग की महक सबको उत्साहित करती है। और होली द्ववेश भूलकर प्रेम भाव का संदेश देकर जाती है। तो देशभर में इस महीने में ही माता के नौ दुर्गाें के दौरान माता रानी की पूजा जगह जगह जागरण तो राम नवमी के मौके पर मंदिरों और घरों में भव्य पूजा पाठ तथा भगवान महावीर स्वामी की जयंती और हनुमान जयंती मनायी जाती है। तो मंदिरों में पूजा पाठ होता ही है इन मौके पर जगह जगह होने वाले भंडारों से प्रसाद के रूप में जरूरतमंद व्यक्तियों को जहां पेट भर भोजन प्राप्त हो जाता है तो समृद्ध शाली व्यक्ति भी भगवान का प्रसाद ग्रहण कर त्रत होते हैं।
मार्च माह समाप्त होते ही आज 31 मार्च को हम वित्तवर्ष के हिसाब से 2017-18 को विदाई दे रहे हैं तथा एक अप्रैल को नव वित्तीय वर्ष 2018 व 19 का स्वागत हम करेंगे। 31 मार्च को व्यापारी उद्योगपति अपने पुराने खातों को बंद करते हैं और एक अप्रैल को नए बहीखाते शुरू होते हैं तथा उनकी पूजा कर भगवान से प्रार्थना करते हैं कि नववर्ष हमारे लिये हर तरह से समृद्ध शाली और उत्साह से परिपूर्ण रहें।
बीती 18 मार्च से हिंदू नववर्ष शुरू हुआ। जगह जगह हवन पूजन के साथ साथ प्रभात फेरियां व धार्मिक यात्राएं निकाली गई जिनसे जहां पर्यावरण शुद्ध हुआ वहीं नागरिकों में धर्म के प्रति आस्था जागरूकता और मजबूत हुई।
आज हनुमान जयंती पूरे देश में अत्यंत उत्साह और उमंग से मनायी गई। जगह जगह भंडारे हुए। प्रसाद के रूप में हलवा पूरी व लडडू कचैरी तो कहीं 56 भोग तो कहीं अन्नकूट को प्रसाद का वितरण बडे ही श्रद्धाभाव से किया गया। इस दृष्टि से अगर देखे तो वर्ष 2017 व 18 को हमारे द्वारा अत्यंत उत्साह और जोश के साथ विदा किया जा रहा है। और 12 बजे के बाद हम नव वर्ष का स्वागत करेंगे धार्मिक दृष्टिकोण से पूजा पाठ भी जारी रहेंगे। इससे हमारे द्वारा नव वर्ष का स्वागत भी अत्यंत उत्साह और अपनी परम्पराओं के अनुसार हवन पूजन व पूजा पाठ के साथ किया जाएगा।
आओ जात पात धर्म भाषावाद गरीब अमीर और उंच नीच को भूलकर बीते वर्ष 2017-18 के खटटे मीठे अनुभव को भूूलकर इस दौरान की अच्छी यादों को आत्मसात कर उससे प्राप्त उत्साह और उमंग के साथ इस आशा से नव वित्तीय वर्ष 2018-19 का जोरदार हार्दिक स्वागत करते हुए सभी की खुशहाली और राष्ट्र की एकता व अखंडता को मजबूत करने एवं देश के विकास में हर प्रकार का सहयोग देने तथा सभी सोच समझने की ताकत रखने वाले मानवों चाहे वो इंसानहो या जीव जन्तु अथवा पेड़ पौधे सबके लिये अच्छा सोचने के साथ ही पवित्र भावना के साथ सभी को नव वर्ष की हार्दिक शुभकमानाएं दे और संकल्प लें कि हम सबकी खुशहाली के लिये काम करने के साथ साथ ऐसा कोई कार्य नहीं करेंगे जिससे देश और समाज तथा आम व्यक्ति को कोई हानि न पहुंचे और हम पूरी मानव जाति के उत्थान के लिये काम करने की बात भविष्य में सोचेंगे।

– रवि कुमार विश्नोई
राष्ट्रीय अध्यक्ष – आॅल इंडिया न्यूज पेपर्स एसोसिएशन आईना
सम्पादक – दैनिक केसर खुशबू टाईम्स
MD – www.tazzakhabar.com

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments