होली में ऐसे करें त्वचा की देखभाल …

107
loading...

रंगों में रसायनिक मिलावट की वजह से कुछ लोग होली से परहेज करते हैं। रसायनिक रंगों से त्वचा, बाल और नाखून में कईतरह की समस्याएं उत्पन्न हो जाती हैं। लेकिन समय के साथ रसायनिक रंगों का इस्तेमाल बढ़ता जा रहा है। इन रंगों में एसिड, अबरख, ग्लास पाउडर जैसे रसायनिक तत्व हमारी त्वचा व बालों के लिए हानिकारक होते हैं। इनसे बचने के खास उपाय।

रंग और रसायन

हमारी इच्छा ऑग्रेनिक और रसायन-मुक्त या हर्बल रंगों से ही होली खेलने की रहती है, लेकिन हम यह नहीं जान पाते कि दूसरे लोग किन रंगों का इस्तेमाल कर रहे हैं। लिहाजा जब आपको त्वचा में खुजली या खराश का अनुभव हो तो खुजाएं नहीं। यदि शरीर में कोई जख्म उभरा हो या त्वचा कट गई हो तो होली से पहले उस पर बैंडेज बांध लें। रंगों में इस्तेमाल टॉक्सिन से त्वचा में एलर्जी, खुजली जैसी कई बीमारियां हो सकती हैं जो त्वचा में एक्जीमा आदि पैदा कर सकती हैं।

इसे भी पढ़िए :  मानव तस्करी की शिकार लड़कियां बनीं कोलकाता डिजाइनर की ‘शो स्टॉपर’

होली से पहले की सावधानियां

लड़कियों को होली शुरू होने से एक सप्ताह पहले से ही अतिरिक्त सावधानी बरतनी चाहिए और इस दौरान कोई ऐसी प्रक्रिया अपनाने से बचना चाहिए जो रोमछिद्रों को खोलने वाले हों रेडिंग, वैक्सिंग, पीलिंग, लेजर जैसे उपचार हों। रूखी त्वचा को मॉश्चर जरूर कर लें क्योंकि जब तक त्वचा अपनी सामान्य स्थिति में नहीं आ जाती है, आपकी रूखी त्वचा में केमिकल का प्रवेश आसानी से हो सकता है।

होली खेलने से पहले

दिल्ली स्थित बीएलके सुपर स्पेशियल्टी हॉस्पिटल के डम्रेटोलॉजी, डॉ. नितिन एस. वालिया के मुताबिक होली खेलने से पहले शरीर में सिर से पैर तक तेल लगा लें। शरीर पर नारियल, सरसों या विटामिन ई तेल से अच्छी तरह मसाज कर लें। इससे आपकी त्वचा और सिर में रंगों का प्रवेश कम होगा। त्वचा को ढकने के लिए सूती कपड़े पहनें। सिर को रंगीन टोपी से ढक लें। नाखून की सुरक्षा के लिए उन्हें थोड़ा काट लें और इन पर नेल पॉलिश लगा लें। रंगों से होने वाले जख्म धूप में तेजी से बढ़ते हैं इसलिए लिप बाम सहित एसपीएफ वाले सभी खुले हिस्सों में सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें। आंखों को ठंडे पानी से धोते रहें और होली खेलने के बाद यदि आंखों में खुजलाहट आए तो आई स्पेशियलिस्ट से संपर्क करें। अल्कोहल से दूर रहें क्योंकि इससे आपकी त्वचा डिहाइड्रेट हो सकती है।

इसे भी पढ़िए :  सरकार की कुल देनदारियां 82 लाख करोड़ के पार पहुंची

होली के बाद रंगों की सफाई
डॉ. नितिन एस. वालिया के अनुसार नहाते समय 5 से 10 मिनट तक बहते पानी के नीचे खड़े हो जाएं। शरीर को बहुत ज्यादा न मलें और न ही सख्ती से रगड़ें क्योंकि रगड़ने से रंग त्वचा के अंदर जा सकते हैं। रंग एक या दो दिन में उड़ जाएंगे। होली के रंग आपकी त्वचा को शुष्क बना देते हैं। लिहाजा नहाने के बाद अपने शरीर को हल्के से साफ करें। शरीर में गाढ़ा बॉडी लोशन लगा लें ताकि त्वचा की सतह पर पानी आ जाए। अपनी त्वचा को नमीयुक्त बनाए रखने के लिए खूब पानी पियें। सबसे जरूरी बात कि धूप में बाहर निकलते वक्त सनस्क्रीन लोशन जरूर लगा लें। यदि आपकी त्वचा में लाल, खुजलाहट, जलन, खराश या फटने का अनुभव हो तो होली के बाद किसी डम्रेटोलॉजिस्ट को दिखाएं।

इसे भी पढ़िए :  मात्र 2599 रुपये में लांच हुआ Honor का बैंड-4, पर्सनल फिटनेस ट्रेनर की तरह करेगा काम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × 1 =