गरीबी की वजह से बेची आठ महीने की बेटी

loading...

अगरतला 07 दिसम्बर। त्रिपुरा में एक आदिवासी परिवार ने अपनी आठ महीने की बेटी को महज दो सौ रूपये में कथित तौर पर बेच दिया। परिवार का कहना है कि उन्होंने गरीबी की वजह से बेटी को बेचने का फैसला किया। सरकारी सूत्रों ने गत दिवस यहां इसकी जानकारी दी। बता दें कि राज्य में इस साल यह अपने किस्म की तीसरी घटना है।

इसे भी पढ़िए :  बिना पैसा लगाए घर बैठकर शुरू करें काम, रोजाना कमा सकते हैं हजारों.....

सूत्रों ने कहा कि तेलियामूरा इलाके में रहने वाले करनय के परिवार में छह सदस्य हैं। केंद्र और राज्य सरकार की किसी योजना का फायदा नहीं मिलने की वजह से जंगल की लकड़ी बेच कर ही उनकी रोजी-रोटी चलती है। गांववालों का आरो है कि बेहद गरीब होने के बावजूद करनय के परिवार को सरकार से अब तक कोई सहायता नहीं मिली है।

इसे भी पढ़िए :  चीन-हांगकांग के बीच 24 अक्टूबर को शुरू होगा दुनिया का सबसे लंबे समुद्री पुल

भाजपा ने भी आदिवासी परिवार की बात पर मुहर लगाते हुए कहा है कि परिवार ने गरीबी की वजह से ही बेटी का सौदा किया है। जबकि राज्य प्रशासन ने इस बात को खारिज कर दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

15 − 11 =