7वें सवाल पर घिरे राहुल गांधी, चौतरफा हमलों में डिलिट किया tweet, पेश किए नए आंकड़े

loading...

नई दिल्ली : गुजरात चुनाव में रोजना नए सवाल पूछकर प्रधानमंत्री को घेरने वाले Congress उपाध्यक्ष राहुल गांधी आज मंगलवार को खुद ही अपने सातवें सवाल में घिर गए. राहुल ने इस सवाल में प्याज, टमाटर, डीजल और रसोई गैस आदि में मंहगाई का आकंड़ा पेश करते हुए सवाल किया था, ‘बढ़ते दामों से जीना दुश्वार, बस अमीरों की होगी भाजपा सरकार?’ जैसे ही राहुल का महंगाई का आंकड़ा पेश किया तभी से उनके आंकड़ों पर सवाल उठाए जाने लगे. Tweet में कांग्रेस उपाध्यक्ष ने सवाल के साथ कुछ जरूरी सामानों के दामों का एक ग्राफ भी दिया था जिसमें बताया गया था कि गैस सिलेंडर के दाम 2017 में 414 रुपये से बढ़कर 2017 में 742 रुपये हो गए. Gas के दामों में 3 साल में 179 percent का इजाफा हुआ है. इसी तरह दाल के दामों में 177, टमाटर में 285, प्याज की कीमतों में 200, दूध में 131 और Diesel के दामों में 113 फीसदी का उछाल आया है. इसमें विभिन्न वस्तुओं के दामों में इजाफे को फीसदी में दिखाया गया था.

राहुल गांधी के इन तथ्यों पर विरोधी दलों ने उन्हें घेरना शुरू कर दिया. विपक्षी दलों ने तर्क दिए कि राहुल गांधी ने गलत Data पेश किए हैं. कई जगहों पर इस मामले में Congress की किरकिरी होती दिखाई दी. Social Media पर कांग्रेस के खिलाफ बढ़ते हमले को देखते हुए राहुल गांधी ने इस Tweet को हटा दिया. इसके कुछ देर बाद फिर से 7वां सवाल पूछा गया और इस बार मंहगाई के Chart में वस्तुओं के दाम में इजाफा Percent में नहीं बल्कि रुपयों में दिखाया गया है.

इसे भी पढ़िए :  कब तक फिसलेगी नवजोत सिंह सिद्धू की जुबान

इस बार उन्होंने रसाई के दामों में बीते तीन सालों में 179 फीसदी के इजाफे की जगह 328 रुपये की बढ़ोत्तरी दिखाई है. इसी तरह टमाटर के दामों में 65 रुपये और Diesel के दामों में 7 रुपये का इजाफा दिखाया है. उधर, राहुल के इस tweet पर विपक्षी ने कहा कि राहुल को math की समझ नहीं है. वह हर बार गलत data पेश कर जनता को गुमराह करने का काम कर रहे हैं.

इसे भी पढ़िए :  पाकिस्‍तान मांग रहा दुनिया से आर्थिक मदद, दूसरी तरफ 1 ऑटो वाले से मिले 300 करोड़

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

20 + fourteen =