किसान की आत्महत्या का मामला सीएम तक

115
loading...

बागपत 20 दिसम्बर। लंबे समय से चल रही चकबंदी प्रक्रिया को लेकर किसान आहत है। बामनौली के किसान की आत्महत्या का मामला सीएम तक पहुंच चुका है। अब बरनावा के किसान आदेश शर्मा ने खुद को चकबंदी से आहत बताते हुए कमिश्नर डा. प्रभात कुमार को पत्र भेजकर आत्महत्या की अनुमति मांगी है। किसान का कहना है कि लंबे समय से चकबंदी चल रही है, लेकिन उसके साथ इंसाफ नहीं हुआ।

इसे भी पढ़िए :  सपा के कारण भाजपा की दिल्ली से बेदखली तय : सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव

जिले के निरपुड़ा, बामनौली, रंछाड़ और बरनावा गांव में कई दशक से चकबंदी की प्रक्रिया चल रही है। समय-समय पर इसे लेकर विवाद उठता रहता है। बामनौली गांव में 1981 से चकबंदी प्रक्रिया शुरू की। गलत तरीके से चक बनाने के आरोप लगाते हुए किसान कोर्ट चले गए। इसके बाद फिर 1989 में चक काटे गये, वह भी गलत तरीके से काटे गए थे। इसके बाद 1991 में चक काटे गए और धारा 20 लगा दी।

इसे भी पढ़िए :  पुलवामा आतंकी हमला : उत्तर प्रदेश के 12 जवान शहीद, सरकार ने की 25 लाख मुआवजे की घोषणा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

8 − 1 =