12 साल बाद खुला राज,पति की हत्या कर सेप्टिक टैंक में डाल दिया था शव

210
loading...

नई दिल्लीः महाराष्ट्र के पालघर में हत्या की एक सनसनीखेज वारदात का खुलासा हुआ है. यह वारदात 12 साल पुरानी है और इस राज से पर्दा अब उठा है. जुर्म की इस वारदात को अंजाम देने वाली एक महिला है और जिस व्यक्ति को उसने मौत के घाट उतारा वह कोई और नहीं इस महिला का शोहर है.

करीब 13 साल पहले इस आरोपी महिला ने अपने पति की हत्या कर उसके शव को घर के सेप्टिक टैंक में डाल दिया था. किसी को इस बात की खबर नहीं हुई और इस शख्स का कातिल ही इस जुर्म का राजदार बना रहा. लेकिन जुर्म की स्याह दीवार पर सच की रोशनी देर से ही सही आती जरूर है.

इसे भी पढ़िए :  IPL Auction 2019: कैंसर से जंग जीतने के बाद ऐसा रहा युवी की कमाई का ग्राफ- देखें photos

मुंबई के औद्योगिक इलाके पालघर के बोईसर से 4 दिसंबर को पुलिस ने फरीदा भारती नाम की महिला के घर में छापा मारा. पुलिस को खबर मिली थी कि बोईसर के गांधीपाड़ा इलाके में एक महिला अपने घर में वेश्यावृति करवाती है. पुलिस ने जब यहां छापा मारा तो 4 लड़कियों को छुड़ाया.

पुलिस ने जब वेश्यावृति से जुड़े सवालों के बाद पुलिस के पता चला कि महिला पर उसके पति की हत्या का भी लोगों ने शक जाहिर किया है. जब पुलिस ने इस बारे में महिला से कड़ाई से पूछताछ की तो फरीदा ने ये गुनाह कबूल कर लिया.
इसके बाद ने पुलिस ने महिला से सख्ती से पूछताछ की तो उसने अपने पति की हत्या की बात कुबूल कर ली। महिला ने बताया कि उसने 13 साल पहले पति की हत्या की थी, तब उसकी उम्र 30 साल रही होगी।

इसे भी पढ़िए :  अब सभी गरीबों को फ्री एलपीजी कनेक्शन

हत्या के बाद महिला ने घर बाथरूम के नीचे बने सेफ्टिक टैंक में फेंक दिया था। हत्या की दिल दहला देने वाली कहानी सुनकर पुलिस ने अपने बड़े अधिकारियों से अनुमित ली और उस सेफ्टिक टैंक को खंगालने का फैसला किया। यहां से पुलिस को 13 साल पुराना कंकाल मिला जिसे देखकर सभी हैरान रह गए।फरीदा के मुताबिक जब उसका पति सो रहा था तो उस दौरान उसने सिर पर एक धारदार हथियार से हमला किया.हालांकि पुलिस अबतक इस बात का पता नहीं लगा सकी है कि आखिर फरीदा ने अपने पति की हत्या क्यों की.

इसे भी पढ़िए :  सरकार की कुल देनदारियां 82 लाख करोड़ के पार पहुंची

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

three × four =