ऐतिहासिक महत्व वाला आधुनिक मेट्रोपॉलिटन शहर है दिल्ली

181
loading...

हिन्दुस्तान का दिल है दिल्ली। जब ऑफिस के काम से आज़ादी हो.. बाहर रोमांटिक सी बरसात हो.. और बस आपके संग एक खूबसूरत सा साथ हो..फिर क्या निकल चलो दिल्ली के सैर सपाटे पर। झमझमाती बारिश में स्कूटी हो या बाइक इंडिया गेट पर दिल्ली वाले अंदाज में तफरी करने का मजा ही कुछ और है.. हुमायूँ की याद में पत्नी हामिदा बानो द्वारा लाल पत्थरों से चुनवाया गया हुमायूँ के मकबरा पर प्यार का इजहार दिल्ली के हर आशिक की ख्वाहिश होती है।

भारत में अनेकता में एकता है तो उसका एक मात्र उदाहरण हमारी प्यार वाली दिल्ली है। नॉर्थ कैम्पस से लेकर साउथ के कॉलेजो में जब छात्र पढ़ने आते हैं, कॉलेजो में दाखिला लेते हैं तब यहां देखने को मिलता है कि हमारी दिल्ली में कितनी विविधता है लेकिन विविधता के बाद भी कॉलेजों में लोगों की दोस्ती होती है और कुछ दोस्त ज़िंदगी भर के लिए भी दोस्त बन जाते हैं। आज भी जब कॉलेज के दिन को याद आती है तो चेहरे पर मुस्कान जरूर दे जाती है। इन्हीं कैम्पसों में प्यार भी पनपता है, कुछ को मुकाम मिलता है कुछ अधूरे रह जाते हैं। दिल्ली की कोई जाति, धर्म, संस्कृति सभ्यता नहीं है ये हर धर्म, जाति को साथ में समेट कर चलता हुआ शहर है।
दिल्ली घूमते वक्त कोई भी यह बात महसूस कर सकता है कि वह ऐतिहासिक महत्व वाले आधुनिक मेट्रोपॉलिटन शहर में है। दिल्ली का इतिहास खूब लंबा और उतार-चढ़ाव वाला रहा है। दिल्ली ने कई साम्राज्यों के उभार और पतन को देखा है। आज की दिल्ली सात शहरों के खंडहरों पर बनी है, जिस पर हिंदू राजपूतों से लेकर मुगल और आखिर में ब्रिटिशों ने राज किया। दिल्ली सही मायनों में एक कॉस्मोपॉलिटन शहर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

ten + 9 =