बिल्डर अंसल व अन्य के खिलाफ धोखाधड़ी के आरोप में एफआईआर दर्ज

210
Judge gavel, scales of justice and law books in court
loading...

नई दिल्ली। पटियाला हाउस की एक अदालत के निर्देश पर बिल्डर अंसल व अन्य आरोपियों के खिलाफ धोखाधड़ी, अमानत में खयानत आदि के आरोप में एफआईआर दर्ज की गयी है।

जाने माने बिल्डर अंसल एपीआई की ही एक कंपनी मैसर्स अंसल हाई टेक टाउनशिप लिमिटेड, सुशील अंसल, प्रणव अंसल व अन्य निदेशकों के खिलाफ दायर शिकायती मामले में अदालत ने विभिन्न आपराधिक धाराओं के तहत एफआईआर कर कार्रवाई रिपोर्ट पेश करने का निर्देश थानाध्यक्ष को दिया था।

पटियाला हाउस के मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट डा. पंकज शर्मा की अदालत में थाना बाराखंबा के सब इंस्पेक्टर(जांच अधिकारी) नवीन दहिया की तरफ से पेश कार्रवाई रिपोर्ट में कहा गया कि आरोपियों के खिलाफ इस मामले में रपट दर्ज कर ली गयी है। जैसा कि अदालत ने निर्देश दिया था उसका पालन कर दिया गया।

इसे भी पढ़िए :  प्रोफेसर पर लगाया यौन उत्पीड़न का आरोप

शिकायती की तरफ से पेश एडवोकेट प्रतीक तंवर ने बताया कि आईपीसी की धारा 420, 406/34 के तहत मामला दर्ज किया गया है। इससे पहले शिकायती विनोद फोतेदार व अन्य की तरफ से पेश एडवोकेट प्रतीक तंवर ने अपनी दलीलों में कहा था कि वर्ष 2008 में ग्रेटर नोएडा के निकट सुशांत मेगापोलिस टाउनशिप के लिए विभिन्न अखबारों में बड़े बड़े विज्ञापन दिए गए थे कि 2504 एकड़ में हाई टेक ग्रीन टाउनशिप बनायी जाएगी।

इसे भी पढ़िए :  आओं आंख मारें ?

इसके लिए निवेशकों से करोंड़ो रपए बिल्डर बायर एग्रीमेंट के तहत प्लॉट बुक किए गए। जब तय शुदा वक्त पर फ्लैट व विकसित प्लॉट जब नहीं मिला तो निवेशकों ने पाया कि जो हाईटेक सिटी करीब 2504 एकड़ भूमि में बननी थी उसके लिए मात्र 500 एकड़ भूमि ही ली जा सकी है और करीब पांच साल बीतने के बाद भी वहां निर्माण कार्य शुरू नहीं किया जा सका।

इसे भी पढ़िए :  मोदी सरकार को बड़ी राहत: सुप्रीम कोर्ट ने कहा- राफेल डील में कोई संदेह नहीं

जब शिकायतियों को एग्रीमेंट का उल्लंघन किया गया और उनके धन की भी वापसी नहीं की गयी तो अदालत में शिकायती मामाला दायर कर दिया गया जिस पर अदालत ने रपट दर्ज करने का निर्देश दिया था।

srcrashtriyasahara

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 × two =