श्रीनगर के कई हिस्सों में कर्फ्यू, बाकी कश्मीर में पाबदियां

loading...

श्रीनगर। लाल चौक और एयरपोर्ट रोड पर कब्जे के अलगाववादियों के आह्वान को देखते हुए श्रीनगर के कई इलाकों में आज भी कर्फ्यू जारी रहा जबकि बाकी कश्मीर में कर्फ्यू जैसी पाबदियां लागू रहेंगी। वहीं 57 दिनों से जनजीवन पंगु बना हुआ है। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया, ‘‘श्रीनगर के मुख्य इलाके के पांच थाना क्षेत्रों और शहर के बाहरी इलाके बटमालू तथा मैसूमा में कर्फ्यू जारी रहेगा।’’ उन्होंने कहा कि गर्मियों की राजधानी के इन इलाकों में एहतियाती उपाय के तौर पर कर्फ्यू जारी रहेगा। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह की अगुवाई में सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल के घाटी दौरे के विरोध में अलगाववादियों ने लोगों से आज और रविवार को एयरपोर्ट रोड, शहर के मध्य में स्थित लाल चौक और जिला मुख्यालय पर कब्जा करने का आह्वान किया है जिसके मद्देनजर कर्फ्यू लगाया गया है।

इसे भी पढ़िए :  दशहरा आज : दिल्‍ली के रामलीला मैदान में PM मोदी करेंगे रावण दहन, राष्‍ट्रपति भी होंगे शामिल

बहरहाल अफसर ने कहा कि शहर के उन इलाकों से कर्फ्यू हटा लिया गया है जहां शुक्रवार को इसे लागू किया गया था। हालात में सुधार को देखते हुए घाटी के अन्य इलाकों से भी कर्फ्यू हटा लिया गया है। अधिकारियों ने बताया कि शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद हिंसा की आशंका के मद्देनजर पुलवामा, कुलगाम, शोपियां, बारामुल्ला और पट्टन शहरों के अलावा श्रीनगर के कुछ हिस्सों में फिर से कर्फ्यू लगा दिया गया था। औपचारिक सू़त्रों ने बताया कि बाकी घाटी में लोगों की आवाजाही पर कर्फ्यू जैसी बंदिशें जारी रहेंगी।

इसे भी पढ़िए :  ई-कॉमर्स कंपनियों की बल्ले-बल्ले, 5 दिन की त्योहारी सेल में 15,000 करोड़ का कारोबार

अलगाववादियों द्वारा प्रायोजित हड़ताल 57वें दिन भी जारी रहने की वजह से जनजीवन प्रभावित रहा। शैक्षिक संस्थान और निजी दफ्तर बंद रहे जबकि सार्वजनिक परिवहन सड़कों से नदारद बना हुआ है। बीती आठ जुलाई को दक्षिण कश्मीर में हिज्बुल मुजाहिदीन के आतंकवादी बुरहान वानी को एक मुठभेड़ में मार गिराए जाने के बाद से घाटी में सुरक्षा बलों और प्रदर्शनकारियों के बीच हुए संघर्ष में दो पुलिस कर्मियों सहित 70 व्यक्तियों की मौत हो गई जबकि कई हजार घायल हो गए।

इसे भी पढ़िए :  बिग बी ने खरीदी नई कार, कीमत और खूबियां कर देंगी हैरान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

three × 1 =