गुप्तांग को गोरा क्यों बना रहे हैं ये लोग?

loading...

बैंकॉक के लीलक्स हॉस्पिटल ने कुछ महीने पहले महिलाओं के वजाइना को गोरा करने के लिए एक सर्विस शुरू की थी. अब यहां हर महीने करीब 100 पुरुष भी अपने गुप्तांग को गोरा करने के लिए ट्रीटमेंट करा रहे हैं. वजाइना को गोरा करने की सर्विस शुरू करने के बाद ही पुरुष अपने गुप्तांग को गोरे करने के लिए सवाल पूछने लगे थे. हॉस्पिटल ने लोगों के रुझान को देखते हुए पुरुषों के लिए भी इस सर्विस को लॉन्च कर दिया.

इसे भी पढ़िए :  UP : एक ऐसा गांव जहां के लोग अब थाने-कचहरी नहीं जाते

हॉस्पिटल की ओर से इस सर्विस की जानकारी फेसबुक पर दी गई थी और वह पोस्ट वायरल हो गया. अब थाईलैंड की सरकार ने लोगों को इस ट्रीटमेंट के खतरों के बारे में चेतावनी जारी की है. अन्य एशियाई देशों की तरह थाईलैंड में लोग गोरे दिखने की कोशिश करते हैं और काले को कमतर मानने का चलन है.

हाल ही में इस हॉस्पिटल और इस सर्विस की जानकारी फेसबुक के जरिये दी गई. इन दिनों ये पोस्ट सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है. लेकिन अब थाईलैंड की सरकार ने इस ट्रीटमेंट को लेकर चेतावनी दे दी है. अब तो अन्य सभी एशियाई देशो की तरह ही थाईलैंड में भी गोरे होने का चलन है.

इसे भी पढ़िए :  VIDEO : पंजाबी गाने पर कराची के मॉल में युवक का dance हुआ Viral, 70 लाख लोगों ने देखा

रिपोर्ट्स की माने तो लीलक्स हॉस्पिटल खास तौर पर बॉडी व्हाइटनिंग के लिए ही जाना जाता है. ये हॉस्पिटल लेजर व्हाइटनिंग के जरिये सभी पुरुषो के गुप्तांग को गोरा करने का दावा करता है. यहाँ के मैनेजर ने बताया कि, हॉस्पिटल इस ट्रीटमेंट को लेकर खासा सतर्क रहता है, क्योंकि यह बॉडी का सेंसिटिव पार्ट है. उन्होंने ये भी बताया कि उनके ज्यादातर क्लाइंट्स 22 से 55 साल के बीच की उम्र के ही होते है. इस सर्विस का नाम है 3डी वजाइना. हॉस्पिटल इस सर्विस के लिए 41 हजार रुपए चार्ज करता है जिसके 5 सेशन होते है.

इसे भी पढ़िए :  वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने के बाद इस शख्स ने किया कुछ ऐसा, हाथ हुआ बेजान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

7 − 5 =