B’day Special : 21 की उम्र में टीम इंडिया का कप्तान बन इस खिलाड़ी ने जीतना सिखाया

loading...

नई दिल्ली : Team India को जीत का रास्ता दिखाने वाले यूं तो टीम इंडिया में कई कप्तान हुए हैं. कई लोगों को Kapil Dev याद आएंगे तो कुछ लोगों को सौरव गांगुली. जिन्होंने कुछ समय पहले ही Cricket Follow करना शुरू किया है, उन्हें धोनी और कोहली के नाम याद आएंगे. लेकिन हम बता रहे हैं उस क्रिकेट कप्तान की कहानी, जो 21 की Age में ही टीम इंडिया का कप्तान बन गया. उसी कप्तान को ये श्रेय दिया जाता है, जिसने पहली बार Team India को आक्रामक बनकर जीतना सिखाया.

हम बात कर रहे हैं मंसूर अली खान पटौदी की. उन्हें टीम इंडिया में टाइगर के नाम से भी जाना गया. उनसे पहले उनके पिता भी टीम इंडिया के कप्तान रह चुके थे. टाइगर का जन्म 5 January 1941 को भोपाल में Nawab इफ्तिखार अली खान के घर हुआ था.

इसे भी पढ़िए :  बेटे का मकान बनने पर बाप को खाली करना पड़ेगा किराए का घर

अपने Test Career में पटौदी ने 2793 रन बनाए. इसमें 6 शतक भी शामिल हैं. उनके नेतृत्व में टीम इंडिया को पहली बार विदेश में जीत मिली. 1968 में Newzealand के दौरे पर गई Team को उन्होंने जीत दिलाई. इसी लिए उनके बारे में कहा जाता था कि उनकी सबसे बड़ी ताकत रणनीति बनाने में थी. उनका सर्वोच्च Score 203 रहा.

इसे भी पढ़िए :  अब खाते से आधार लिंक करना जरूरी, RBI की नई गाइडलाइंस हुई जारी

भले उनकी कप्तानी में टीम इंडिया ने 40 में से 9 टेस्ट में ही जीत हासिल की, लेकिन ये टाइगर ही थे, जिन्होंने टीम को ये भरोसा दिलाया कि टीम इंडिया दुनिया में किसी भी पिच पर कैसे भी हालात में जीत सकती है.

Accident में गंवाई आंख, लगा सब कुछ खत्म
1961 में Britain में एक कार हादसा हुआ. कांच का एक टुकड़ा उचटकर Tiger की आंख में लगा. इस हादसे में उनकी एक आंख की रोशनी चली गई. सभी को लगा कि उनका क्रिकेट Career अब खत्म. लेकिन टाइगर दूसरी ही मिट्टी के बने थे. उन्हें किसी भी कीमत पर क्रिकेट खेलना था. और वह खेले भी. 1962 में उन्होंने West Indies टूर के दौरान उन्हें team का उपकप्तान चुन लिया गया

इसे भी पढ़िए :  पुलिस प्रशासन के सहयोग से कल चलेगा बंगला नंबर 210 बी पर बुलडोजर

1975 में टाइगर ने Cricket से संन्यास ले लिया. उनका निजी जीवन भी काफी सुर्खियों में रहा. 1993 से लेकर 1996 तक वह टीम के रेफरी भी रहे. 2011 में लंग इन्फेक्शन के कारण उनका निधन हो गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 × 1 =