पीएम के रूट में फंसे मंत्री, पैदल पहुंचे दफ्तर

32
loading...

नई दिल्ली । केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी को बुधवार को संसद भवन के पास स्थित परिवहन मंत्रालय में अपने कार्यालय तक पैदल आना पड़ा जब नीति आयोग में एक बैठक में हिस्सा लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लौटते समय यातायात रोक दिया गया था।

बुधवार देर शाम संसद मार्ग स्थित नीति आयोग में प्रधानमंत्री जब एक बैठक में हिस्सा लेकर लौट रहे थे तभी रेड क्र ॉस तक यातायात रोक दिया गया। इतना ही नहीं इस दौरान पैदल जाने की भी इजाजत नहीं थी। इसी बीच परिवहन भवन की ओर आ रहे गडकरी की कार को भी रुकना पड़ा। इस पर गडकरी कार से उतर कर पैदल ही अपने कार्यालय की ओर चल दिये।

इसे भी पढ़िए :  AIIMS के डॉक्टरों ने NMC विधेयक पर नड्डा को दिया खुली बहस का न्यौता

थोड़ा आगे जाने पर पुलिसकर्मियों ने उन्हें पैदल जाने से भी रोक दिया। गडकरी कुछ देर वहीं खड़े रहे, इस बीच वहां तैनात एक पुलिस अधिकारी ने उन्हें पहचान लिया और उनसे कुछ पूछ पाता इससे पहले ही गडकरी ने अधिकारी से विनम्रतापूर्वक पूछा कि उनका दफ्तर थोड़ा आगे है, क्या वह पैदल निकल सकते हैं।

इसे भी पढ़िए :  अब हरियाणा में 'निर्भया कांड', जींद में नाबालिग दलित लड़की की गैंगरेप के बाद नृशंस हत्या

पुलिस अधिकारियों ने उन्हें सहयोगियों के साथ न सिर्फ पैदल जाने दिया बल्कि कुछ पुलिसकर्मी उन्हें थोड़ा आगे तक छोड़ने भी आये। इसके कुछ मिनट बाद ही प्रधानमंत्री का काफिला गुजर जाने पर वाहनों को जाने की इजाजत दी गई। हालांकि तब तक गडकरी पैदल ही परिवहन भवन तक पहुंच गये और उनकी सरकारी कार पीछे से पहुंची। इस नजारे को देख वहां खड़े लोगों में गडकरी के इस रवैये की खूब प्रशंसा की गई।

इसे भी पढ़िए :  विधानसभा के साथ लोकसभा चुनाव करा सकती है केन्द्र सरकार: मायावती

srcrs

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fourteen − 8 =