राज्यपाल ने कहा राज्य प्रतीक चिन्ह के इस्तेमाल के संबंध में कानून बनाया जाए

loading...

लखनऊ 11 जनवरी। उत्तर प्रदेश के राज्यपाल श्री राम नाईक ने मुख्यमंत्री से कहा है कि राज्य सरकार के प्रतीक (दो मछलियों वाला लोगो) चिन्ह के अनधिकृत प्रयोग को रोकने के लिये प्रदेश में कानून बनायें। राज्यपाल ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र प्रेषित करते हुए कहा है कि राज्य सरकार के प्रतीक चिन्ह (दो मछलियों वाला लोगो) का प्रयोग गरिमा एवं अधिकारिता का द्योतक होता है। कानून अथवा राज्य सरकार द्वारा अधिकृत किये बिना किसी व्यक्ति द्वारा इसका उपयोग करना अनुचित है।

इसे भी पढ़िए :  वरिष्ठ कोंग्रेसी नेता व समाजसेवी चौधरी यशपाल सिंह वरिष्ठ नागरिकों की जमात में हुए शामिल ,अनेक संगठनों व प्रमुख नागरिकों ने किया स्वागत व सम्मान

राज्यपाल ने पत्र में यह भी कहा है कि उत्तर प्रदेश में राज्य सरकार के प्रतीक चिन्ह के प्रयोग के संबंध में कोई कानून नहीं है जिससे इसके उपयोग के बारे में जानकारी प्राप्त हो सके कि किन-किन महानुभावों द्वारा इसका प्रयोग किया जा सकता है और किसके द्वारा नहीं।

इसे भी पढ़िए :  गुर्दा प्रत्यारोपण के क्षेत्र में उल्लेखनीय उपलब्धि प्राप्त कर शहर में आए डा. आकाश बंसल का हुआ भव्य स्वागत

भारत के राज्य संप्रतीक (अशोक चिन्ह) के अनधिकृत उपयोग को दण्डनीय अपराध माना गया है। कानून के अभाव में राज्य सरकार के प्रतीक चिन्ह के अनधिकृत उपयोग को दण्डनीय अपराध की श्रेणी में नहीं माना जा सकता है। उन्होंने मुख्यमंत्री से इस संबंध में राज्य विधान मण्डल के माध्यम से कानून बनाने को भी कहा है।

इसे भी पढ़िए :  राज्यपाल व डिप्टी सीएम द्वारा स्वामी विवेकानन्द और धन सिंह कोतवाल की प्रतिमा का अनावरण।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 × 5 =