पांच हजार स्कूलों में एक भी शिक्षक नहीं

loading...

भोपाल 02 दिसम्बर। मध्य प्रदेश सरकार ने विधानसभा में स्वीकार किया कि राज्य की चार हजार 811 शालाएं शून्य शिक्षकीय है।। स्कूल शिक्षा मंत्री विजय शाह ने विधायक सुखेंद सिंह के सवाल के लिखित जवाब में ये जानकारी दी।

जवाब में कहा गया है कि मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा यूनिफाइड डिस्ट्रिक्ट इन्फोर्मेशन सिस्टम फाॅर एज्यूकेशन से (यूडीआईएसआई) के माध्यम से प्रतिवर्ष शासकीय एवं निजी शालाओं में 30 सितंबर की स्थिति में शालावार उपलब्ध संसाधनों जैसे छात्र संख्या, परीक्षा फल, पाठ्यपुस्तक, गणवेश, शाला प्रबंधन समिति एवं भौतिक संसाधनों की उपलब्धता से संबंधित जानकारी एकत्रित की जाती है।

इसे भी पढ़िए :  अटल बिहारी वाजपेयी की सेहत जानने दूसरी बार एम्स पहुंचे PM नरेंद्र मोदी

राज्य में उपलब्ध यूनिफाइड डिस्ट्रिक्ट इन्फोर्मेशन सिस्टम फाॅर एज्यूकेशन की जानकारी के अनुसार चार हजार 811 शालाएं शून्य शिक्षकीय हैं। सरकार ने जवाब में कहा कि सीधी भर्ती के अंतर्गत रिक्त पदों की पूर्ति के लिए मध्य प्रदेश पंचायत संविदा शाला शिक्षक नियमों में संशोधन एवं पात्रता परीक्षा आयोजित करने की कार्यवाही प्रचलन में है।

इसे भी पढ़िए :  जीत हमेशा शांति और अहिंसा, त्याग और बलिदान की होती है: मोदी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twelve + fourteen =