कोहली ने कहा, सीरीज में बस एक ही चाहत, जल्द आउट हों डीविलियर्स

loading...

नई दिल्ली: भारत और साउथ अफ्रीका के बीच पांच जनवरी से जब 3 टेस्ट मैचों की सीरीज का आगाज होगा तो सबकी नजरें भारतीय कप्तान विराट कोहली और साउथ अफ्रीका के दिग्गज बल्लेबाज AB DeVilliers पर होंगी. दोनों ही खिलाड़ी महान बल्लेबाजों की श्रेणी में आते हैं. अपनी Team के सबसे बड़े खिलाड़ी हैं. IPL में दोनों ने Royal Challengers बैंगलोर की ओर से एक साथ धमाका करते हैं. मैदान के बाहर भी दोनों एक दूसरे का पूरा सम्मान करते हैं लेकिन बात जब मैदान पर आपस में भिड़ने की होती है तो फिर दोनों एक दूसरे के जल्द Out होने की कामना करते हैं.
Cape town में होने वाले पहले टेस्ट से पहले शनिवार को कोहली ने कहा, AB मेरे बहुत अच्छे दोस्त हैं. एक खिलाड़ी और एक इंसान के तौर पर मैं उनका बेहद सम्मान करता हूं. लेकिन जब बारी मुकाबले की आती है तो फिर हमारी दोस्ती खत्म हो जाती है. साथ ही कोहली ने ये भी कहा कि दोनों के बीच एक प्रतियोगिता तो चलती है लेकिन कभी किसी ने खेल भावना को तोड़ने की कोशिश नहीं की. बस एक ही चाहत रहती है कि कैसे एबी को जल्द आउट किया जाए.

इसे भी पढ़िए :  अरूण जेटली जैसे मंत्रियों द्वारा बनाई जाने वाली नीतियों में अगर सुधार हुआ तो अमेरिकी उद्योगपति जाॅन चैंबर्स के कथन का भाजपा को मिल सकता है फायदा

कोहली ने कहा, जिस तरीके से हम ab के जल्द आउट होने की चाहत रखते हैं, ठीक उसी तरह विपक्षी खेमा भी मेरे, पुजारा और रहाणे के आउट होने की चाहत रखते हैं. कोहली ने कहा कि सीरीज को लेकर बाहर काफी बहस चल रही है लेकिन उनका मानना है कि टक्कर बराबरी की होगी और जो भी टीम सेशन में अच्छा करेगी जीत उसी की होगी. डीविलियर्स को लेकर कोहली चिंतित नहीं है क्योंकि भारत में खेले टेस्ट सीरीज के बाद वो काफी समय तक बाहर रहे. चोट से उबरने के बाद डीविलियर्स ने जिम्बॉब्वे के खिलाफ वापसी की. उन्होंने कहा, हम अभी विरोधी टीम के बारे में नहीं सोच रहे. न ही डीविलियर्स को लेकर क्योंकि उन्होंने अभी अभी लंबे समय के बाद वापसी की है. मुकाबले में जीत उसी की होगी जो एक टीम बन कर खेलेगी.
भारतीय टीम यहां 56 दिन के दौरे पर है. जहां वो तीन टेस्ट, छह वनडे और तीन टी-20 मैचों की सीरीज खेलेगी. टेस्ट सीरीज की शुरुआत पांच जनवरी से हो रही है.

इसे भी पढ़िए :  मुझे रेस 3 में काम करने से बहुत लोगों ने मना किया था: अनिल कपूर

कोहली ने कहा, “हमारे पास सही गेंदबाजी आक्रमण है और टीम के पास हर स्थिति में जीत हासिल करने का संतुलन भी” उन्होंने कहा, “हमारे लिए यह सेशन जीतने, वर्तमान में रहने, अपनी योग्यताओं को लागू करने का मसला है न कि हम जिस देश में खेल रहे हैं उसके इतिहास में जाने का.”

इसे भी पढ़िए :  सवालों से डर लगता है साहब! राजस्‍थान विधानसभा में पूछे गए 3000 सवालों के जवाब नहीं देगी सरकार

कोहली ने कहा कि टीम के खिलाड़ियों के पास अच्छा अनुभव है और अब समझ भी कि टेस्ट मैच कैसे जीता जा सकता है.
कोहली ने कहा, “कई खिलाड़ी यहां खेले हैं. हम सभी अपने खेल को अच्छे से जानते हैं. एक टीम के तौर पर हमें अपनी व्यक्तिगत योग्यताओं पर भरोसा है.” उन्होंने कहा, “हमें पता है कि हमें मैच के समय क्या करना है. हम जानते हैं कि हमें टेस्ट मैच कैसे जीतने हैं.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 × 2 =