गुजरात हाईकोर्ट का सिंघवी को Notice, अंबानी ग्रुप के 5000 करोड़ रुपये की मानहानि का दावा

loading...

अहमदाबाद: गुजरात उच्च न्यायालय ने सोमवार (18 december) को Reliance अनिल अंबानी समूह द्वारा दायर 5,000 करोड़ रुपये के मानहानि मामले में Congress Party के प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी को नोटिस जारी किया है. न्यायमूर्ति प्रकाश उपाध्याय ने सुनवाई के बाद यह Notice जारी किया है, तथा मामले की अगली सुनवाई की Date 26 December तय की है. मानहानि का यह मुकदमा 15 December को दायर किया गया था, जिसमें सिंघवी पर ‘निराधार, अपमानजनक और झूठे’ वक्तव्य देने के आरोप लगाए गए हैं.

इसे भी पढ़िए :  होश में आओ कॉरपोरेट संसार के नायकों को सांप्रदायिक बताने वालों अथवा पहचानों कॉरपोरेट जगत के नायक को बदनाम करने वालों को :आर.के. सिन्हा

सिंघवी ने 30 November को वित्तमंत्री अरुण जेटली पर हमला बोलते हुए कहा था कि वह लोगों को यह कह कर ‘मूर्ख’ बना रहे हैं कि सरकार ने बड़े कर्जदारों का कर्ज माफ नहीं किया है. उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार ने जानबूझकर कर्ज नहीं चुकानेवाली कंपनियों और बड़े कर्जदारों का कुल 1.88 Lakh Crore रुपये का कर्ज माफ कर दिया है.

उन्होंने कहा, “हम सब जानते है कि शीर्ष की 50 कंपनियों पर Banks का कुल 8.35 लाख करोड़ रुपये बकाया है. और इनमें से शीर्ष 3 कंपनियां गुजरात की हैं, जो रिलांयस (अनिल अंबानी समूह), अडानी और एस्सार हैं और उन पर कुल तीन लाख करोड़ रुपये बकाया है.” उन्होंने वित्तमंत्री पर आरोप लगाया कि इन Obligations को NPA (गैर निष्पादित परिसंपत्तियां) के रूप में घोषित करने के बजाए “वे कर्जदारों को और अधिक रक्षा क्षेत्र के सौदे मुहैया करा रहे हैं, जैसे राफेल डील.”

इसे भी पढ़िए :  सबसे बड़े निवेशक वारेन बफे शुरू करेंगे नई कंपनी, भारतवंशी डॉक्‍टर को बनाया CEO

Reliance defense ने इससे पहले एक बयान में यह स्पष्ट किया था कि Reliance Aerospace Limited और Dassault Aviation द्वारा संयुक्त उद्यम का गठन दो निजी कंपनियों के बीच एक द्विपक्षीय समझौते के तहत किया गया है और इसका सरकार से कोई लेना देना नहीं है.

इसे भी पढ़िए :  जीत हमेशा शांति और अहिंसा, त्याग और बलिदान की होती है: मोदी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eighteen − 14 =