करते हैं पक्षियों से प्यार तो यह रहीं दस बेहतरीन बर्ड सेंचुरी

loading...

नीला आकाश और नीला नदी का पानी… पानी पर उड़ता ये सफेद पक्षियों का काफिला… चारों तरफ हरियाली…गूंजती मीठी कोयल की आवाज…साथ में गुनगुनाता शामा (गाने वाली चिड़िया) का राग… दो हंसों को प्यार की गहराइयों में धकेलने में मदद करता है …और हमारी आंखों के सामने ये दृश्य मानो धरती पर ही स्वर्ग की सैर कराता हो…। भारत विशाल देश है। यहां अनेक प्रकार के रंग रूप तथा गुणों वाले पशु-पक्षी पाए जाते हैं। कुछ आकार में बड़े होते हैं कुछ छोटे तो बहुत ही छोटे…।

वैसे तो जानवरों और पक्षियों से इंसान का प्यार कोई नयी बात नहीं है। युगों से इंसान पशु-पक्षियों से प्यार करता रहा है। दुनिया में कई सारे लोग हैं, जो पक्षियों और जानवरों से बेहद प्यार करते हैं अगर आप नेचर लवर हैं और आपको पक्षियों को देखने का शौक है तो हम आपके लिए भारत की दस सबसे बेहतरीन बर्ड सेंचुरी खोज कर लाए हैं। जहां जाकर आप खुद को प्रकृति के नजदीक पाएंगे।

भरतपुर बर्ड सेंचुरी (राजस्थान)
भरतपुर बर्ड सेंचुरी को केवलादेव नेशनल पार्क के नाम से जाना जाता है। भरतपुर बर्ड सेंचुरी भारत की सबसे प्रसिद्ध बर्ड सेंचुरी में से एक है। इसे यूनेस्‍को की वर्ल्‍ड हैरिटेज साइट में शामिल किया गया है। यहां पक्षियों की 360 प्रजातियां पाई जाती हैं। यह सेंचुरी सुबह 8 बजे से शाम पांच बजे तक खुलती है। यहां आप को पक्षियों की ढेरों प्रजातियां देखने को मिलेंगी।

सुल्‍तानपुर बर्ड सेंचुरी (हरियाणा)
सुल्‍तानपुर बर्ड सेंचुरी हरियाणा में स्थित है। ये बर्ड रिजर्व के तौर पर फेमस है। यहां पर आप को निवासी और प्रवासी पक्षियों की 250 से भी ज्‍यादा प्रजातियां देखने को मिलेंगी। यहां पर साइबेरिया, रसिया, टर्की और ईस्‍टर्न यूरोप से सर्दियों के मौसम में भारी तादद में पक्षी आते हैं। ये बर्ड सेंचुरी सुबह 6 बजे से शा‍म को 4.30 तक खुलती है।

इसे भी पढ़िए :  आवास विकास के अधिकारी अभियान से ध्यान भटकाने की कोशिश ना करे, वाजपेयी और सोमेन्द्र के निर्माणों को धराशाही करने वालो को अपने कार्यालय के सामने व आसपास हुए अवैध निर्माणों क्यो नही दिखायी दे रहे?

सलीम अली बर्ड सेंचुरी (गोवा)
सलीम अली बर्ड सेंचुरी का नाम ऑर्नीथोलॉजिस्‍ट सलीम मोईजुद्दीन अब्‍दुल अली के नाम पर रखा गया है। गोवा के चोराओ आइसलैंड पर ये सेंचुरी बसी है। यहां मांडोवी नदी बहती है। सलीम अली बर्ड सेंचुरी भारत की सबसे प्रसिद्ध बर्ड सेंचुरी में से एक है। यहां पक्षियों की सैंकड़ों प्रजातियां पाई जाती हैं। आप यहां पर सुबह 6 से शाम 6 के बीच कभी भी आ सकते हैं।

कुमारकोम बर्ड सेंचुरी (केरल)
कुमारकोम बर्ड सेंचुरी केरल में वेम्बानाड लेक के किनारे बसी हुई है। यहां हर ओर सिर्फ हरी घास नजर आती है। ये सेंचुरी 14 एकड़ में फैली हुई है। ये भारत की सबसे खूबसूरत बर्ड सेंचुरी में से एक है। यहां आप को निवासी और मौसमी पक्षियों की ढेरों प्रजातियां देखने को मिलेंगी। कुमारकोम में पक्षियों को देखना सबसे रोमांचक अनुभव होता है। यहां साईबेरिया और रसिया से कई पक्षियों की प्रजातियां आती हैं। यहां आप कभी भी सुबह 6 बजे से शाम को 6 बजे तक आ सकते हैं।

वेदंथंगल बर्ड सेंचुरी (तमिल नाडु कांचीपुरम)
वेदंथंगल बर्ड सेंचुरी कांचीपुरम में स्थित है। वेदंथंगल का अर्थ होता है शिकारियों का गांव। तमिलनाडु में बनी ये बर्ड सेंचुरी भारत की सबसे खूबसूरत बर्ड सेंचुरी में से एक है। 30 एकड़ में फैली ये बर्ड सेंचुरी यहां की सबसे पुरानी और छोटी बर्ड सेंचुरी है। हर साल यहां 40 हजार से भी अधिक पक्षी आते हैं। अक्‍टूबर से जनवरी के बीच में इस बर्ड सेंचुरी में घूमने का सबसे बेहतरीन मौका होता है। आप यहां कभी भी सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे तक आते हैं।

इसे भी पढ़िए :  VIDEO: पार्टी में डांस करते दिखे विराट, भज्जी के डांस को देख हंस-हंसकर हुए लोट-पोट

कौण्डिन्या बर्ड सेंचुरी (आंध्र प्रदेश)
कौण्डिन्या बर्ड सेंचुरी आंध्र प्रदेश में स्थित है। ये हॉर्सली हिल्‍स से 85 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। प्रकृति प्रेमियों के लिए ये जगह जन्‍नत से कम नहीं है। हर भरा जंगल पक्षियों को आकर्षित करता है। जीवंत और समृद्ध जैव विविधता के तौर पर ये भारत की सबसे बेहतरीन बर्ड सेंचुरी में से एक है। यहां पक्षियों की सैंकड़ों प्रजातियां पाई जाती हैं। जिन्‍हें देखने के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं। यहां आप सुबह से शाम तक किसी भी समय आ सकते हैं।

चिल्‍का लेक बर्ड सेंचुरी (ओडिसा)
ओडिसा की प्रसिद्ध चिल्‍का लेक के किनारे पर बसी हुई चिल्‍का लेक बर्ड सेंचुरी की खूबसूरती चंद शब्‍दों में बयां नहीं की जा सकती है। चिल्‍का एशिया की सबसे बड़ी झील है। ये कई प्रवासी पक्षियों का घर है। यहां आप को पक्षियों की सैंकड़ों प्रकार की प्रजातियां देखने को मिलेंगी। हर साल हजारों की संख्‍या में सैलानी चिल्‍का लेक घूमने आते हैं। आप यहां पर सुबह 6 बजे से शाम 7 बजे तक आ स‍कते हैं।

मयानी बर्ड सेंचुरी (महाराष्‍ट्र)
मयानी बर्ड सेंचुरी महाराष्‍ट्र के वदूज गांव में स्थित है। यह एक आर्द्रभूमि पारिस्थितिकी तंत्र है जो जैव विविधताओं में समृद्ध है। मयानी बर्ड सेंचुरी नदी के किनारे बसा हुआ है। यहां पर आप को पक्षियों की ढेरों प्रजातियां देखने को मिलेंगी। मयानी में बर्ड सेंचुरी का मजा लेने के लिए वैसे तो नवंबर से जनवरी का महीना सबसे बेहतरीन होता है पर यहां पर आप सुबह से शाम तक कभी भी आ सकते हैं।

इसे भी पढ़िए :  रणबीर दीपिका के साथ फिर काम करेंगे

कच्छ ग्रेट इंडिया बर्ड सेंचुरी (गुजरात)
कच्छ ग्रेट इंडिया बर्ड सेंचुरी गुजरात में स्थित है। ये भारत की सबसे प्रसिद्ध बर्ड सेंचुरी में से एक है। यहां पर ज्‍यादातर पक्षी ऐसे होते हैं जिनकी गर्दन लंबी होती है। जैसे ऑस्ट्रिच और कई अन्‍य पक्षी। यहां आप को पक्षियों की ढेरों प्रजातियां देखने को मिलेंगी। ये बर्ड सेंचुरी नेचर लवर्स के लिए जन्‍नत से कम नहीं है। आप यहां सुबह से लेकर शाम के बीच कभी भी आ सकते हैं।

नल सरोवर बर्ड सेंचुरी (गुजरात)
अहमदाबाद से 60 किलोमीटर की दूरी पर स्थित नल सरोवर बर्ड सेंचुरी भारत की सबसे बड़ी वाटर बर्ड सेंचुरी में से एक है। यहां पर पानी में रहने वाले पक्षी अधिक मात्रा में पाए जाते हैं। जिन निवासी या प्रवासी पक्षियों को नदी या झील का किनारा पसंद होता है। ऐसे पक्षी यहां हजारों की संख्‍या में नजर आते हैं। बर्ड लवर्स के लिए ये जगह जन्‍नत से कम नहीं है। आप यहां किसी भी मौसम में सुबह 6 से शाम 6 बजे के बीच आ सकते हैं।

आप इस प्राकृतिक सुंदरता का अगर लंबे समय तक लाभ उठाना चाहते है तो हमारी प्रकृतिक धरोहर को बचाने में मदद करें और अपने आस पास पेड़ लगाएं और सफाई का ध्यान रखें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

12 − 8 =