दिमाग तेज बनाओ, क्लास में अव्वल आओ,

loading...

हमारा खान-पान बच्चों पर बहुत असर करता है। यदि अपने बच्चों को स्वस्थ और मजबूत बनाना चाहते हैं तो आज से ही अपने बच्चों को कोल्ड ड्रिंक और फास्ट-फूड जैसे, पिज्जा-बर्गर और चाऊमीन आदि से किनारा कर लें साथ ही मैदे से बनी अन्य चीजों पर भी अपने बच्चों को ज्यादा निर्भर न रहने दें। इस समय बच्चों की परीक्षा का समय चल रहा है और जिधर भी देखो वहीं तनाव का माहौल छाया हुआ है।

जहां बच्चे अपनी कॉपी-किताबें निकाल कर दिन-रात पढ़ते नजर आ रहे हैं, वहीं माता-पिता की रातों की नींद भी उड़ी हुई है। ऐसे में माता-पिता को बच्चों की परीक्षा से ज्यादा उनकी सेहत की चिंता ज्यादा सताती है। बच्चे अक्सर तनाव के चक्कर में भूंखे पेट परीक्षा देने निकल पड़ते हैं, जिससे उनकी सेहत बिगड़ जाती है। अगर आपके बच्चे की भी परीक्षा चल रही है और आप नहीं चाहते कि वह परीक्षा हॉल में जा कर बेहोशी, लो बीपी या चक्कर का शिकार हो जाए तो आपका यह जानना बेहद जरूरी है कि उसे क्या खिलाया जाए और क्या नहीं। परीक्षा के दौरान आपके बच्चे तनाव से न घिरे रहें इसके लिए उन्हें सही आहर दें।

इसे भी पढ़िए :  जापान के बच्चे सबसे खुशहाल: शोध

कौन कौन से खिलाये आहार

  1. परीक्षा के समय खाएं जरूर : रोजाना बच्चा चाहे ब्रेक फास्ट करता हो या नहीं, लेकिन परीक्षा के दिनों में उसे कुछ न-कुछ जरूर खिला कर भेंजे। इससे उसके दिमाग में एनर्जी रहेगी और वह तेजी से काम करेगा। अगर बच्चा ज्यादा भारी नहीं खा सकता तो उसे प्रोटीन शेक या स्मूदी पिला कर भेजें।

2.दिमाग तेज करने वाले आहार खिलाएं : इसमें आपको प्रोटीन वाले आहार शामिल करने होंगे जो बच्चे के दिमाग को एलर्ट रखेंगे। परीक्षा के दिनों में बच्चों को मेवे, दही या पनीर आदि खिलाएं। ब्रेकफास्ट में ओट्स के साथ स्कीम मिल्क, या टोस्ट पर जैम आदि लगा कर खिलाएं। संतरा, स्ट्रॉबेरी, केला, पालक, गाजर आदि अच्छी च्वाइस है।

इसे भी पढ़िए :  शिशु में कब्ज की समस्या का घरेलु उपचार

3.दिमाग बंद करने वाले आहार न खिलाएं : परीक्षा के दिनों में बच्चे को मैदे से बनी चीजें जैसे, कुकीज, केक या मफिन्स जैसी चीजें न खिलाएं। इसके अलावा डेजर्ट, चॉकलेट और कैंडीध आदि न दें क्योंकि उन्हें हजम करने में एनर्जी लगती है। साथ ही आलू और चावल भी नहीं देना चाहिए क्योंकि इससे काफी नींद आती है।

4.क्या पीना चाहिए : परीक्षा के पहले बच्चे को ढेर सारा पानी पीने को कहें। चाय थोड़ी कम शक्कर के साथ होनी चाहिए। शरीर में अगर डीहाइड्रेशन हो गया तो बच्चे को चक्कर और बेहोशी आ सकती है।

5.नहीं पीना चाहिए : बच्चे को शक्कर से भरी कोल्ड ड्रिंक और ढेर सारी कॉफी नहीं देनी चाहिए। अगर बच्चे को कॉफी की लत है तो उसके साथ उसको कुछ हेल्दी खाने को भी दें।

इसे भी पढ़िए :  किडनी को नुकसान पहुंचा सकते हैं दूषित हवा पानी

6.हल्का भोजन करें : भोजन कभी भी ठूंस कर न खाएं। अगर परीक्षा के पहले आप पेट भरकर ब्रेकफास्ट या लंच करेंगे तो आपको नींद आएगी और आपका पेट भी भरा-भरा लगेगा। आपका शरीर सारी एनर्जी दिमाग की ओर न लगा कर भोजन हजम करने में लगा देगा।

7.मल्टी विटामिंस का सेवन : कई बच्चे घर का हेल्दी खाना न खा कर पिज्जा और बर्गर पर निर्भर रहते हैं। ऐसे में उनके अंदर जरूरी विटामिन और मिनरल की कमी आ जाती है। इसलिए मल्टीविटामिन लेना जरूरी हो जाता है। विटामिन ‘‘बी’ दिमाग की कार्य क्षमता को बढ़ाता है। आयरन, कैल्शियम और जिंक शरीर को तनाव से लड़ने में मदद करते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

15 − 10 =