क्या है ब्लू व्हेल चैलेंज? कैसे ले लेता है जान? कैसे बच सकते हैं इससे?

loading...

ऑनलाइन गेम ब्लू व्हेल चैलेंज का आतंक दिनोंदिन बढ़ता ही जा रहा है। भारत सरकार इस पर रोक लगा चुकी है लेकिन इसके बावजूद देश के विभिन्न हिस्सों में बच्चे इसका शिकार हो रहे हैं। दरअसल सरकार के आदेश के बावजूद इस गेम पर पूरी तरह रोक नहीं लगायी जा सकी है क्योंकि भले विभिन्न वेबसाइटों पर इस गेम से संबंधित यूआरएल ब्लॉक कर दिये गये हों लेकिन सोशल मीडिया मंचों के माध्यम से इस गेम के लिंक यूजर्स तक पहुँच रहे हैं। इस गेम के बारे में दुनिया भर में यही ट्रेंड देखने को मिल रहा है कि यह डाउनलोड के लिए कम जगह ही उपलब्ध है और कम चर्चित साइटों पर ग्रुपों में इसके लिंक पोस्ट किये जाते हैं। ऐसे में इस गेम का खतरा धीरे-धीरे बढ़ता जा रहा है। लेकिन कुछ उपाय अपना कर हम बच्चों को इस गेम से दूर रख सकते हैं या फिर इस गेम के चक्कर में पड़ गये बच्चों की जिंदगी बचा सकते हैं।

खतरे की घंटी

यह गेम कितना खतरनाक है इसका अंदाजा इसी बात से लग जाता है कि जब कोई इसे खेलने के लिए साइन-अप करता है तो शुरू में ही एडमिनिस्ट्रेटर कह देता है कि यदि एक बार इस खेल में एंटर कर लिया तो वापस जाने का कोई रास्ता नहीं है। यस पर क्लिक करके ही यूजर आगे बढ़ पाता है और इसी दौरान उसे बता दिया जाता है कि खेल का अंत उसकी मौत से हो सकता है। यूजर इस बात का चैलेंज लेने को भी तैयार हो जाता है। गेम में आगे बढ़ने के लिए उसे अपना हर टास्क पूरा करने के बाद उससे संबंधित फोटो एडमिनिस्ट्रेटर को भेजना होता है तभी उसे अगले चरण में प्रवेश की अनुमति मिलती है। तो आप भी यदि किसी बच्चे को अचानक से अत्यंत गंभीर होते देखें और आपको लगे कि उसके व्यवहार में परिवर्तन आ गया है तो सतर्क हो जाना चाहिए।

इसे भी पढ़िए :  बच्चों के यौनशोषण व तस्करी पर एडीजी जोन गंभीर, प्रशांत कुमार ने कहा दलालों के खिलाफ जारी रहेगी पुलिस की मुहिम

ऐसे बढ़ता है खेल आगे

इस गेम में यूजर को अलग-अलग मोबाइल नंबरों से टास्क भेजे जाते हैं और कई बार टास्क को लाइव भी करके दिखाना होता है। हर टास्क पूरा होने पर बधाई संदेश भी आता है। एक बार कोई इस गेम में घुस गया तो उसका बाहर निकलना बहुत मुश्किल होता है क्योंकि उस पर पहले भावनात्मक दबाव बनाया जाता है और बाद में उसे डराया धमकाया जाता है और टास्क पूरा नहीं करने पर उसके परिवार को नुकसान पहुंचाने की बात कही जाती है। इस गेम के जाल में ज्यादातर अकेलापन महसूस करने वाले या भावुक लोग ही आसानी से फंस रहे हैं। टास्क के तहत कई बार हॉरर मूवी दिखायी जाती हैं और उस समय यूजर के चेहरे के भाव पढ़कर एडमिनिस्ट्रेटर उसके अगले टास्क के बारे में फैसला करता है। यूजर के मन में हर टास्क को पूरा करने और अगले चरण में पहुंचने का जुनून पैदा कर दिया जाता है और इस चक्कर में उसकी रातों की नींद भी गायब हो जाती है।

इसे भी पढ़िए :  अंग्रेजी की अनिवार्यता खत्म, हिन्दी या हिंग्लिश भी बना सकती है डॉक्टर

ऐसे बरतें सावधानी

यदि कोई बच्चा अभिभावकों से छिप कर मोबाइल फोन या टैबलेट का उपयोग कर रहा है तो उस पर सावधानी से नजर रखने की जरूरत है क्योंकि ब्लू व्हेल चैलेंज के ज्यादातर मामलों में यही देखा गया है कि बच्चे छिप-छिप कर यह गेम खेलते हैं। ऐसे बच्चों को कभी भी अकेला नहीं छोड़ना चाहिए। ऐसे बच्चों को डांटने या मारने से स्थिति बिगड़ सकती है इसलिए या तो उसे प्यार से समझायें या किसी अच्छे काउंसलर से उसकी काउंसिलिंग करवाएं। इस गेम की सबसे खतरनाक बात यह है कि इसमें चरण दर चरण अपने आप को नुकसान पहुंचाने की प्रवृत्ति बढ़ती चली जाती है। इस गेम में जो टास्क दिये जाते हैं उससे ही आपको इसके खतरनाक स्तर का अंदाजा लग जायेगा। बानगी देखिये-

-हाथ पर रेजर से कोई नंबर लिखने को कहा जाता है।
-रोज सुबह 4.20 पर उठने और हॉरर फिल्में देखने के लिए कहा जाता है।
-ब्लू व्हेल खेलने के लिए पैरों पर येस लिखने को कहा जाता है।
-सोशल मीडिया स्टेटस में व्हेल लिखने या व्हेल की फोटो लगाने के लिए कहा जाता है।
-छत की मुंडेर से बाहर की तरफ पैर लटका कर बैठने के लिए कहा जाता है।
-सुबह 4.20 पर उठ कर रेलवे लाइन के पास जाने के लिए कहा जाता है।
-कुछ ऐसा करने के लिए कहा जाता है जिससे कि बीमार पड़ जाएं।
-यूजर से कहा जाता है कि ऐडमिन आपको आपकी मौत की तारीख बताएगा, उसके लिए तैयार रहना है।

इसे भी पढ़िए :  विजया बैंक, देना बैंक, बैंक आफ बड़ौदा का होगा विलय

कहां से हुआ इस खेल का जन्म

जहां तक इस खेल के जन्म की बात है तो ‘ब्लू व्हेल गेम’ या ‘द ब्लू व्हेल चैलेंज’ नाम का गेम रूस के फिलिप बुडेकिन नाम के शख्स ने 2013 में बनाया था। इस खेल में एक एडमिन होता है, जो खेलने वाले को अगले 50 दिन तक बताते रहता है कि उसे आगे क्या करना है। इस खेल के आखिरी दिन खेलने वाले को आत्महत्या करनी होती है और उससे पहले एक सेल्फी लेकर अपलोड करनी होती है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

15 − nine =