ट्रेनों में खानपान वस्तुओं की रेट लिस्ट देखें, फिर दें पैसे, जानिए क्यो

loading...

नई दिल्ली 17 फरवरी। रेल यात्रा के दौरान आपका अक्सर खानपान की वस्तुएं बेचने वाले वेंडरों से रूबरू होना पड़ता है। चाय या खानपान लेने पर वेंडर पैसे तो लेते हैं, लेकिन उनके पास रेट लिस्ट नहीं होती है। यात्रियों के मांगने पर वे टालमटोल करते हैं, किन्तु वेंडर रेट लिस्ट नहीं देते हैं। लिहाजा यात्री वस्तुओं की मात्रा, गुणवत्ता और उस की कीमत को लेकर ठगा महसूस करते हैं। शिकायतों को निपटारा होने भी समय लगता है। ऐसे में रेल मंत्रालय ने फैसला किया है कि वेंडरों को हरहाल में रेट लिस्ट रखनी होगी। यात्रियों के मांगने पर नहीं मिलने पर उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए रेलवे ने टोल फ्री नंबर, एसएमएस और ट्विटर पर शिकायत करने की सुविधा दी है।ट्रेनों में खानपान वस्तुओं में ओवरचार्जिग की शिकायतों को दूर करने और नियमों को सख्ती से पालन करने के लिए रेल मंत्रालय में बैठक बुलाई गई थी। बैठक में सभी जोनल रेलवे से खानपान विभाग से जुड़े अधिकारी शामिल थे। निर्णय लिया गया कि वेंडरों को रेट लिस्ट रखना जरूरी होगा। यात्री रेलवे के अधिकारियों के पास सीधे शिकायत दर्ज करा सकता है या फिर एसएमएस तथा ट्विटर के जरिए खराब गुणवत्ता वाले खानपान वस्तुओं की शिकायत दर्ज कर सकता है। शिकायत के लिए टाॅल फ्री नंबर है 1800111321 तथा एसएमएस के लिए नंबर है -9717630982, इसके साथ ट्विटर के जरिए भी आप रेल अधिकारियों के पास अपनी व्यथा दर्ज करा सकते हैं। बैठक में तय हुआ है कि अगर कोई वेंडर तय दामों से ज्यादा वसूली करेगा तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। बता दें इस तरह की मामलों में शिकायतें मिलने के बाद रेलवे पहले से ही कार्रवाई मोड में आ गई है। पिछले एक माह में 68 मामलों में कार्रवाई की गई है। शताब्दी में अधिक वसूली में एक लाख रपए जुर्माने के तौर पर वसूले गए हैं। यहां यह भी उल्लेख करना उचित होगा कि रेल ने एक कप स्टैंर्डड चाय की कीमत 5 रुपए तय की है। रेट रेलवे स्टेशन तथा गाड़ी दोनों के लिए वैध है। टी बैग समेत चाय का दाम 7 रूपए तथा टी पाॅट की कीमत 10 रु पए है। टी पाॅट में 285 मिली चाय, 2 टी बैग, 2 शुगर पाॅउच और दो डिस्पोजल कप देने की व्यवस्था है। इसी तरह से खाने की कीमत और वजन भी तय है, लेकिन वेंडर इन दोनों में ही हेराफेरी करते हैं।

इसे भी पढ़िए :  देश के आधे प्रीमियम स्मार्टफोन बाजार पर सैमसंग का कब्जा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

ten + two =